जितनी कमलनाथ और दिग्विजय की प्रॉपर्टी, उतने का तो सिंधिया का एक महल...

कांग्रेसी कह रहे भाजपा में आने के लिए सिंधिया ने लिए 50 करोड़ : विजयवर्गीय

मप्र में उपचुनाव को लेकर दोनों की पार्टियों ने मैदान संभाल लिया है। इसी कड़ी में सांवेर विधानसभा में चुनावी बिगुल फूंकते हुए भाजपा ने अपने प्रत्याशी तुलसी सिलावट के कार्यालय का उद्घाटन किया। इस दौरान भाजपा महासचिव कांग्रेस सरकार और कांग्रेसियों पर जमकर बरसे। विजयवर्गीय ने कहा कि जीतू पटवारी और कांग्रेसी लगातार आरोप लगा रहे हैं कि सिंधिया जी और सिलावट 50 करोड़ रुपए लेकर भाजपा में शामिल हुए हैं। मैं जीतू,कमलनाथ और दिग्विजय सिंह को कहना चाहता हूं कि आप सब अपनी प्राॅपर्टी जोड़कर कीमत आंक लो। जितनी तुम सबकी की प्रॉपर्टी होगी, उतनी तो सिंधिया जी का एक महल है। आरोप लगाने के पहले एक बार सामने वाले की हैसियत देखकर तो बात किया करो। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए जमकर बरसे विजयवर्गीय। कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए जमकर बरसे विजयवर्गीय। विजयवर्गीय ने कहा कि कांग्रेस ने राम मंदिर का समर्थन नहीं किया। कमलनाथ को झांझ मजीरा बजाना है तो बजाएं। 

बुढ़ापे में यदि सदबुद्धि आ जाए तो ये बहुत अच्छी बात है। बुढ़ापे में दिग्विजय सिंह ने नर्मदा परिक्रमा की। फल मिला है ना, 12 महीने तक खूब ट्रांसफर करवाए। नर्मदा की छह महीने परिक्रमा की, 12 महीने की सरकार में खूब रुपए कमाए। उन्होंने उस समय फावड़े से रुपए खींचे। विजयवर्गीय ने कमलनाथ पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस सरकार ने कन्यादान योजना के रुपए खा लिए। तुम्हें सेवा भावना क्या मालूम है, कांग्रेस के लोग जो मां-बाप की सेवा नहीं कर सके तो वे जनता की सेवा क्या करेंगे। कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कांग्रेस कोई काम तो करती नहीं है। वचन पत्र लाए थे, किसानों का कर्ज माफ करेंगे, दूधवालों को 5 फीसदी बोनस देंगे। सम्मेलन में मौजूद दूधवालों ने कहा कि कोई बाेनस नहीं मिला तो बोले कि जीतू पटवारी तो कह रहे थे मिल गया है। ये कांग्रेसी इतना झूट बाेलते हैं, लफ्फाजी की भी हद होती है। तुलसी को एक लाख से ज्यादा मतों से जिताकर आपको कांग्रेसियों को हकीकत दिखानी है। 

देशभर में कांग्रेस की हालत खराब है, उनके नेताओं को उनके नेतृत्व में पर यकीन नहीं है। पहले कर्नाटक में विधायक छोड़कर गए तो उन्होंने भाजपा पर आरोप लगा दिया। फिर मप्र में छोड़कर सिंधिया जी आए तो चिल्लाने लगे 25 तोड़कर ले गए... राजस्थान में विधायक छोड़कर गए तो आरोप लगाने लगे कि 25 करोड़ दिए 50 करोड़ रुपए दिए। राजस्थान के विधायक तो वापस चले गए, इस पर संदीप पात्रा ने डीबेट में कहा कि आप तो आरोप लगा रहे थे, करोड़ों रुपए हमने दिए अब वे वापस चले गए तो रुपए लौटा दो यार। जीतू पटवारी पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि पटवारी चिल्ला रहे थे कि सिंधिया जी ने तुलसी सिलावट ने 50 करोड़ रुपए लिए। पटवारी तुम सुनो, तुम्हारी पार्टी के लोग सुने चाहे वो कमलनाथ हों या फिर दिग्विजय सिंह... जितनी तुम सबकी प्रॉपर्टी है, उसे जोड़ लो, उतने का तो सिंधिया जी का एक महल है। सिंधिया भाजपा में आने के लिए रुपए लेंगे। किसी पर आरोप लगाने के पहले अपनी हैसियत तो देखो यार...। 

मप्र की जनता से चुनाव में क्या-क्या वादे किए थे, कौन सा वादा निभाया। हमने शिवराज जी के नेतृत्व में हमने 15 साल सरकार चलाई। उनके फिर से आते ही पुरानी योजनाओं को हमने फिर से लागू कर दिया है। जीतू पटवारी पार्षद का चुनाव हार गए थे। छोटी सी जमीन थी। आज करोड़ों रुपए कहां से आ गए। आप आरोप लगाते हो, इसने 20 करोड़ लिए 25 करोड़ लिए। चलनी बोले की सुपड़े में छेद है यार तो अच्छा लगता है क्या। जनता के बीच जाओ तो इनका चेहरा भी बेनकाब करो। मोदी जी ने कहा धारा 370 हटाएंगे, हटा दी। यही कांग्रेस विरोध कर रही थी। इसी कांग्रेस में रहते हुए सिंधिया ने धारा 370 हटाने का समर्थन किया था।