पैसे के लेनदेन को लेकर हुआ था विवाद…

पुलिस ने 12 घण्टे के अन्दर किया अंधेकत्ल का पर्दाफाश


ग्वालियर। दिनांक 18.08.2020 को शाम 07.50 बजे 100 डायल पर सूचना प्राप्त हुई कि थाना झाँसीरोड क्षेत्रान्तर्गत साइंस काँलेज के द्वितीय गेट (हाँस्टल रोड) के अन्दर एक व्यक्ति जिसके सिर में गोली लगी है वह एक्टिवा गाडी सहित पड़ा हुआ है। उपरोक्त सूचना पर से वरिष्ठ अधिकारियों को अवगत कराया गया। पुलिस अधीक्षक ग्वालियर अमित सांघी, द्वारा सूचना मिलते ही तत्काल घटना स्थल का मौका मुआयना किया गया और पुलिस अधिकारियों को मृतक की तस्दीक कर हत्या में शामिल लोगों की तत्काल गिरफ्तारी किये जाने हेतु निर्देशित किया गया। 

पुलिस अधीक्षक ग्वालियर के निर्देश पर अति. पुलिस अधीक्षक शहर पूर्व सुमन गुर्जर के मार्गदर्शन में नगर पुलिस अधीक्षक विश्वविद्यालय रत्नेश सिंह तोमर के निर्देशन में थाना प्रभारी झाँसीरोड रमेश कुमार शाक्य को मय पुलिस बल के अंधेकत्ल के आरोपी को पकड़ने हेतु लगाया गया। पुलिस टीम द्वारा घटना स्थल पर मृतक के शरीर की तलाशी लेने पर मिले कागजातों एवं मोबाइल से ज्ञात हुआ कि मृतक का नाम सफीक अहमद पुत्र हबीब अहमद निवासी गुब्बारा फाटक थाना कोतवाली ग्वालियर है। 

पुलिस टीम द्वारा हत्या की वारदात को अंजाम देने वाले अज्ञात आरोपी की तलाश हेतु सीसीटीव्ही फुटेज देखे गये, संदेहियों को बुलाकर पूछताछ की गई एवं साइंस काँलेज के चैकीदार एवं कर्मचारियों से घटना के संबंध में जानकारी ली गई। दौराने विवेचना पुलिस टीम को मृतक के परिजनों से ज्ञात हुआ कि प्रमोद यादव उर्फ बब्बन का मृतक सफीक से लोन के पैसों पर से विवाद चल रहा था। उक्त सूचना पर से संदेही प्रमोद यादव उर्फ बब्बन यादव पुत्र स्व. बद्रीप्रसाद यादव उम्र 46 वर्ष निवासी गुब्बारा फाटक घाटगे की गोट, थाना कोतवाली ग्वालियर से उक्त अंधेकत्ल से संबंध में सख्ती से पूछताछ की गई। नगर पुलिस अधीक्षक विश्वविद्यालय रत्नेश सिंह तोमर द्वारा स्वयं पूछताछ करने पर प्रमोद यादव द्वारा घटना करना स्वीकार किया। 

पुलिस टीम आरोपी को लेकर घटना स्थल पर गई तब संदेही द्वारा पुलिस को घटना के संबंध में पूर्ण जानकारी दी कि मैंने एवं सफीक अहमद दोनों ने मिलकर घटना स्थल पर शराब पी थी, इसी दौरान पैसे के लेनदेन को लेकर हम दोनों के बीच विवाद होने पर मैने उसके चलने के समय कट्टे से गोली मार दी थी और मैं वहां से अपनी एक्टिवा गाडी लेकर भाग निकला था। आरोपी ने बताया कि मैंने और मृतक सफीक अहमद ने मिलकर लोन लिया था उसी के लेन-देन को लेकर हमारे बीच उस समय विवाद हुआ था। आरोपी प्रमोद यादव की निशादेही पर घटना में प्रयुक्त 315 बोर का देशी कट्टा, चला हुआ एक खोखा एवं एक जिन्दा कारतूस मय एक्टिवा के जप्त किया गया।