हमें पुलिस नहीं साथी बनकर जनता का विष्वास जीतना होगा…
प्रतिदिन एक जरूरतमंद व्यक्ति की करें सहायता : आईजी

ग्वालियर। पुलिस कन्ट्रोल रूम ग्वालियर में पुलिस महानिरीक्षक ग्वालियर जोन अविनाष शर्मा द्वारा ग्वालियर शहर के समस्त राजपत्रित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों की समीक्षा बैठक ली गई। बैठक में पुलिस उप महानिरीक्षक ग्वालियर रेंज ए.के. पाण्डे, पुलिस अधीक्षक ग्वालियर अमित सांघी,भापुसे के साथ एएसपी शहर-पूर्व सुमन गुर्जर, एएसपी शहर-मध्य पंकज पाण्डेय, एएसपी शहर-पष्चिम सतेन्द्र सिंह तोमर, सीएसपी मुरार आर.एन.पचैरी, सीएसपी लष्कर आत्माराम शर्मा, सीएसपी महाराजपुरा रवि भदौरिया, सीएसपी विष्वविद्यालय रत्नेष सिंह तोमर, सीएसपी इंदरगंज मुनीष राजौरिया, सीएसपी ग्वालियर नागेन्द्र सिंह सिकरवार के अलावा शहर के समस्त थाना प्रभारिगण उपस्थित रहे। बैठक में आईजी ग्वालियर ने उपस्थित अधिकारियों एवं थाना प्रभारियों से एससी/एसटी एवं महिला संबंधी अपराधों के 01 माह से लंबित प्रकरणों की समीक्षा की। उनके द्वारा एससी/एसटी के लंबित राहत प्रकरणो के संबंध में थाना प्रभारियों से प्रकरण के लंबित रहने का कारण जाना तथा एससी/एसटी के लंबित प्रकरणों को 02 माह के भीतर निराकृत करने के लिये कहा। जिससे पीड़ित को शीघ्र इंसाफ दिलाया जा सके। उन्होने कहा कि थाने मे आने वाले प्रत्येक फरियादी व्यक्ति की सुनवाई की जाना चाहिये। 

सभी थाना प्रभारी इस बात को सुनिष्चित करेेंगे कि थाने से कोई भी पीड़ित व्यक्ति बिना सुनवाई के वापस न लौटे। उन्होने सीएम हेल्पलाइन की षिकायतों के त्वरित निकाल के लिये भी थाना प्रभारियों को निर्देषित किया। आईजी ग्वालियर ने कहा कि कोरोनाकाल मे पुलिस द्वारा की गई निःस्वार्थ सेवा से जनता मे उसकी छवि मे बहुत सुधार हुआ है आप सभी का यह दायित्व है कि इस छवि को बरकरार रखा जाये। इसके लिये प्रत्येक पुलिस अधिकारी का यह कर्तव्य बनता है कि वह प्रतिदिन एक जरूरतमंद व्यक्ति की सहायता करें। इससे जनता मे पुलिस के प्रति विष्वास और अधिक बढ़ेगा। शासन द्वारा पुलिस को कानून-व्यवस्था बनाने के साथ-साथ समाज के प्रत्येक वर्ग की सहायता करने के लिये ही बनाया गया है और यह पुलिस का मूल कर्तव्य भी है। समीक्षा बैठक के दौरान आईजी ग्वालियर ने उपस्थित समस्त पुलिस अधीकारियों से महिला संबंधी अपराधों को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तार कर प्रकरणों का त्वरित निकाल करने के लिये निर्देषित किया इसके साथ म.प्र. शासन द्वारा जारी निर्देष के तहत चिंटफंड कंपनियों के खिलाफ प्राप्त होने वाली प्रत्येक षिकायत को गंभीरता से लेते हुऐ उसकी जांच करें और प्रकरण पंजीबद्ध कर गरीब का पैसा लेकर भाग जाने वाले लोगों को जेल की सलाखों के पीछे पहुंचाये। 

उन्होने कोरोना महामारी को दृष्टिगत रखते हुए सभी पुलिस अधिकारियो को आदेषित किया कि वे कार्यस्थल पर तैनात स्टाॅफ को सावधानी के साथ अपने कर्तव्यों का पालन करने के लिये समय≤ पर ब्रीफ करें साथ ही सड़को पर बिना मास्क घूमने वाले पर सख्त कार्यवाही करें। इसके साथ ही केंटोंमेंट जोन मे ड्यिूटी कर रहे बल को प्रतिदिन यह समझाइष दी जाये कि वे केंटोंमेंट जोन के नियमों का पालन सख्ती से करायें। उन्होने कहा कि इस महामारी को हराने के लिये पुलिस को सख्ती से नियमों का पालन कराना होगा तभी हम इस महामारी से शहर को सुरक्षित रख पायेंगे। कोरोना महामारी के चलते जिलें मे कानून व्यवस्था बनाये रखना पुलिस के लिये बहुत बड़ी चुनौती है इसलिये समय≤ पर गुण्डो और बदमाषो के विरूद्ध जिला बदर-एनएसए की कार्यवाही की जाये। थाना प्रभारिगण यह भी सुनिष्चित करें कि थाने मे आने वाले परिवारिक मामलों मे फरियादी और उसके परिवारजनों की अच्छे से काउंसलिंग करायी जाये ताकि किसी भी परिस्थिति मे एक परिवार टूटने ना पाए। उन्होने कहा कि आप सभी स्मार्ट व नये जमाने के पुलिस अधिकारी है तथा कोरोना महामारी जैसी विषम परिस्थितियों में भी आपने लगातार अपने कर्तव्यों का निर्वहन किया है। आम लोगों से हम कैया व्यवहार करते है इसका सीधी असर पुलिस विभाग की छवि पर पड़ता है।

आईजी ग्वालियर ने जिले के सभी राजपत्रित अधिकरियों से कहा कि वह अपने अधिनस्थ थानों मे पदस्थ विवेचकों की विवेचना का स्तर सुधारने के लिये उन्है समझाईष दें। बैठक मे उपस्थित पुलिस उप महानिरीक्षक ग्वालियर रेंज ए.के. पाण्डे द्वारा समस्त थाना प्रभारियों को थाना बल की टीम गठित कर अभियान चलाकर अवैध रेत उत्खनन करने वालों, जुआ, सट्टा खिलवाने वालों, सोसायटी माफिया एवं पीडीएस राषन की चोरी करने वाले गिरोहों पर प्रकरण दर्ज कर सख्त कार्यवाही करने के निर्देष दिये। उन्होने कहा कि पीडीएस राषन की खरीद और ब्रिक्री करना दोनों ही अपराध की श्रेणी मे आता है इनके विरूद्ध भी प्रकरण पंजीबद्ध किये जाये। नवागत पुलिस अधीक्षक अमित सांघी ने कहा कि सभी थाना प्रभारी अपने-अपने थानों के पैडिंग अपराधों के निकाल के लिये प्रभावी ढंग से कार्यवाही करें साथ ही वारंट तामीली को भी बढ़ाया जाये। उन्होने कहा कि थाने मे आने वाले प्रत्येक फरियादी की सुनवाई करें यदि किसी पुलिस कर्मी द्वारा कतव्र्य के निर्वहन मे लापरवाही की जाती है तो उसके विरूद्ध विभागीय कार्यवाही की जायेगी। कोई भी कर्मचारी अपनी समस्या अपने प्रभारी के माध्यम से मेरे समक्ष रखें मै विष्वास दिलाता हूं कि उनकी समस्या का अवष्य निदान किया जाएगा। उन्होने कहा कि आप सभी कोविड-19 की ड्यिूटी निर्भीक होकर करें तथा स्वंय को भी सुरक्षित रखें। क्योकि जब आप सुरक्षित रहेगे तभी परिवार और समाज को सुरक्षित रख सकेंगे।