MP में कांग्रेस को एक और झटका…
दोपहर में विधायकी से इस्तीफा, शाम को BJP की सदस्यता

कांग्रेस से विधायक रहीं सुमित्रा देवी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में भाजपा के प्रदेश कार्यालय में पहुंचकर पार्टी की सदस्यता ग्रहण की.सुमित्रा देवी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली सुमित्रा देवी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली. मध्य प्रदेश में नेपानगर विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस की विधायक सुमित्रा देवी कास्डेकर ने 17 जुलाई की दोपहर में ही विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दिया था. शाम होते-होते विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने सुमित्रा देवी का इस्तीफा मंजूर भी कर लिया. 

इस्तीफा मंजूर होते ही शाम को सुमित्रा देवी ने सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का दामन थाम लिया. कांग्रेस से विधायक रहीं सुमित्रा देवी ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की मौजूदगी में भाजपा के प्रदेश कार्यालय में पहुंचकर पार्टी की सदस्यता ग्रहण की. भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सुमित्रा देवी को भाजपा की सदस्यता ग्रहण कराई. गौरतलब है कि ज्योतिरादित्य सिंधिया की बगावत के बाद प्रदेश की सत्ता गंवाने वाली कांग्रेस को 6 दिन के अंदर लगा यह दूसरा झटका है. सुमित्रा देवी से पहले बड़ा मलहरा विधानसभा क्षेत्र से विधायक रहे प्रद्युम्न लोधी ने भी 12 जुलाई को विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. 

विधानसभा के प्रोटेम स्पीकर की ओर से विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा स्वीकार कर लिए जाने के बाद प्रद्युम्न सिंह लोधी ने भी भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली थी. बता दें कि देश में लॉकडाउन लागू होने से कुछ दिन पहले ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थक 22 विधायकों ने विधानसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था. 22 विधायकों के इस्तीफे से कांग्रेस की तत्कालीन कमलनाथ सरकार अल्पमत में आ गई थी. कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था. अब मध्य प्रदेश विधानसभा में 26 सीटें रिक्त हो गई हैं. इन सीटों पर उपचुनाव होगा.