राज्यपाल के पास भेजा जाएगा प्रस्ताव…
कोरोना के चलते टला मॉनसून सत्र

शुक्रवार को प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक बुलाई गई थी. बैठक में तय किया गया कि मध्यप्रदेश में कोरोना के संक्रमण को देखते हुए अभी विधानसभा का सत्र नहीं बुलाया जाए. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मध्य प्रदेश में फिलहाल विधानसभा का सत्र टाल दिया गया है. शुक्रवार को प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा की अध्यक्षता में सर्वदलीय बैठक बुलाई गई थी. बैठक में तय किया गया कि मध्यप्रदेश में कोरोना के संक्रमण को देखते हुए अभी विधानसभा का सत्र नहीं बुलाया जाए. जिसके बाद सर्वसम्मति से मॉनसून सत्र टालने का फैसला किया गया. अब इस प्रस्ताव को राज्यपाल आनंदी बेन पटेल के पास भेजा जाएगा. 

जाहिर है 20 जुलाई से प्रदेश में विधानसभा का सत्र प्रस्तावित था. शुक्रवार दोपहर को हुई इस बैठक में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष एनपी प्रजापति, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा, पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा शामिल हुए थे. इस दौरान राज्य में बढ़ते कोरोना मामलों पर चर्चा की गई और एहतियातन विधानसभा सत्र को टालने का विचार किया गया. बता दें, मध्य प्रदेश में पिछले 24 घंटों में करीब 700 कोरोना के नए मामले सामने आए हैं. इंदौर में पिछले 24 घंटे में 93 केस सामने आए हैं. 

इंदौर के अलावा भोपाल, ग्वालियर, मुरैना, जबलपुर सबसे अधिक कोरोना प्रभावित जिलों में शामिल है. शुक्रवार को मध्य प्रदेश में कोरोना के मामले बढ़कर 20,378 हो गए हैं. जबकि मरने वालों की संख्या बढ़कर 689 हो गई है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि 70 प्रतिशत से अधिक मौत किसी न किसी अन्य बीमारी की वजह से हुई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा शुक्रवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार देश में कोरोना वायरस के मामले बढ़कर 10,03,832 हो गए जबकि एक दिन में 687 लोगों की मौत के साथ मृतकों का आंकड़ा 25,602 हो गया है.