3 माह का किराया किया माफ...
आर्थिक रूप से परेशान किरायेदारों के लिए पेश की मिसाल

ग्वालियर। वैश्विक महामारी कोरोना के संकट काल में हर वर्ग परेशान हो रहा है । जहां गरीब व मजदूर परेशान है, वहीं किराए के भवनों में अपना व्यवसाय कर रहे व्यवसायी व शैक्षणिक संस्थान चला रहे कोचिंग संचालक आर्थिक संकट का सामना कर रहे हैं ऐसे में कई समाजसेवी एक दूसरे की मदद के लिए आगे आ रहे हैं । इसी प्रकार विनय नगर ग्वालियर निवासी आचार्य पंडित बनवारी लाल शास्त्री ने उनके यहां किराए से कोचिंग संचालित कर रहे शिक्षकों का 3 माह का किराया माफ कर एक ऐसी मिसाल पेश की है जिससे अब शहर के अन्य भवन मालिक भी किरायेदारों के प्रति सहानुभूति पूर्वक व्यवहार करने के लिए प्रेरित होंगे। 

कोविड-19 के इस संकट काल में हर कोई परेशान है, चाहे वह श्रमिक हो या व्यापारी, किराएदार हो या मकान मालिक सभी की अपनी-अपनी परेशानियां हैं। ऐसे में सभी लोग एक दूसरे के सहयोग के बिना इस संकट से उबर जाएंगे यह मुश्किल होगा । इसी सूत्र को समझते हुए हमारे शहर के अनेक समाजसेवी एक दूसरे की मदद के लिए निरंतर आगे आ रहे हैं। कोई गरीबों को भोजन राशन बांट रहा है, तो कोई प्रवासी मजदूरों को सहायता प्रदान कर रहा है। 

वहीं शहर में एक बहुत बड़ा वर्ग ऐसा भी है जो कि किराए के भवनों में अपना व्यवसाय व शैक्षणिक गतिविधियां चलाते हैं। लॉक डाउन के कारण पिछले 2 माह से सभी का व्यवसाय व शिक्षण कार्य बंद है तथा आय का कोई स्रोत भी नहीं है और फिलहाल आगे भी कुछ दिनों तक यही स्थिति रहने वाली है। ऐसे में इनका दुख दर्द सभी शहर वासियों व भवन स्वामियों को समझने की आवश्यकता है ।

जिसकी पहल की है, शहर के वयोवृद्ध आचार्य पंडित बनवारी लाल शास्त्री जी ने उन्होंने अपने भवनों में संचालित 3 कोचिंग संस्थानों के संचालकों की आर्थिक परेशानी को समझते हुए उनका 3 माह का किराया माफ कर दिया है। जिससे उनके भवन में कोचिंग संचालित करने वाले शिक्षकों के साथ ही अन्य कोचिंग संचालकों ने भी पंडित शास्त्री जी का उनके विनय नगर स्थित निवास पर  पहुंचकर स्वागत किया तथा आशा व्यक्त की, कि शहर के अन्य भवन मालिक भी इसी प्रकार की मिसाल पेश करेंगे।