इंटरनेशनल नर्स डे पर सांसद ने किया नर्सों का सम्मान…
कोरोना से लड़ाई आपके बिना संभव नहीं, पूरा देश आपका ऋणी है : श्री लालवानी


आज कोरोना महामारी के दौर में जब हम सब अपने घरों में बैठे हैं तब नर्स अपना घर, परिवार, छोटे बच्चे और बुजुर्गों को छोड़कर इस भीषण आपदा से लड़ने में लगे है। इंदौर के चुनौतीपूर्ण हालात में भी नर्सों के हौंसले बुलंद है और हमे भरोसा है कि हम कोरोना को हरा देंगे। 

इंदौर सांसद शंकर लालवानी ने ये बात आज इंटरनेशनल डे के मौके पर नर्सों का सम्मान करते हुए कही। सांसद शंकर लालवानी ने इंटरनेशनल नर्स डे मौके पर हॉस्पिटल पहुंचकर नर्सों को शॉल भेंट की और इंदौर की जनता की ओर से उनका सम्मान किया। 

सांसद ने कहा कि ये सिर्फ किसी एक हॉस्पिटल की नर्सों का नहीं बल्कि सभी नर्सों का सम्मान है। यूं तो हमेशा से ही नर्स मानवता की सेवा में तत्पर रही है लेकिन कोरोना की भयावहता के बीच नर्सों की सेवा भावना ने उनका स्थान बहुत ऊंचा कर दिया है। सांसद की इस पहल पर हॉस्पिटल का नर्सिंग स्टाफ भी खुश नजर आया और उनके चेहरे पर गर्व की अनुभूति थी। 

वहीं सांसद ने कहा कि इंदौर में 14 नर्स संक्रमण का शिकार हो चुके हैं लेकिन सभी काम पर लौटने के लिए उत्सुक है। नर्सों की सेवा भावना, त्याग और तपस्या को मेरा प्रणाम है। नर्सों के भी घरों पर छोटे-छोटे बच्चे हैं, बुजुर्ग माता-पिता है और घर की सभी जिम्मेदारियों के बीच वे इस भीषण महामारी से लड़ रहे हैं। इंदौर समेत पूरा देश नर्सों का ऋणी है और हम ये ऋण कभी नहीं चुका पाएंगे।