जिले में अभी तक 12421 प्रवासी मजदूर आये...
शनिवार को अन्य प्रदेशों से 2478 प्रवासी मजदूर पहुंचे मुरैना  
   
मुरैना। प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चैहान ने प्रवासी मजदूरों को उनके घर तक पहुंचाने के लिये बेहतर व्यवस्थायें करने के निर्देश जिला कलेक्टरों को दिये है। जिसमें मुरैना जिले की सीमा पर अन्य प्रांत जैसे राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा, उत्तरप्रदेश से प्रवासी मजदूर जिले के बाॅर्डर पर पहुंच रहे है। प्रवासी मजदूरों को उनके गंतव्य स्थान तक पहुंचाने के लिये कलेक्टर प्रियंका दास ने मजदूरों को भोजन, पानी एवं ठण्डी हवा के पंखों का प्रबंध किया है। 

जिले के विभिन्न चैक पोस्टों से अभी तक 35 हजार 781 मजदूरों को प्रदेश के अन्य जिलों में भेजा गया है। अभी तक 12 हजार 421 प्रवासी मजदूर मुरैना जिले में विभिन्न प्रांतों से आये है। 16 मई शनिवार को मुरैना जिले की अल्लावेली और अटारघाट चेक पोस्टों पर 2 हजार 478 और मजदूर आये है। जिनमें से 478 मजदूर मुरैना जिले के है। जिन्हंें बसों में बिठाकर उन्हें उनके गंतव्य स्थान तक पहुंचाया गया है। 2 हजार मजदूर अन्य प्रांतों के थे, जिन्हें 32 बसों में बिठाकर उनके प्रांतो के बाॅर्डरों तक भेजा गया।

डिप्टी कलेक्टर एलके पाण्डे ने बताया कि अभी तक अन्य प्रांतों से आने वाले 35 हजार 781 मजदूरों को 715 बसों से उनके राज्यों की सीमा तथा मध्यप्रदेश के अन्य जिलों के मजदूरों को उनके गृह जिलों तक पहुंचाया गया। उन्होंने बताया कि 6 हजार 243 मुरैना जिले के लोंगो ने ई-पास की मांग इसीलिये की थी, कि उनके परिवार के लोग अन्य जिलों में फंसे हुये थे। इन सभी लोंगो को जिला प्रशासन द्वारा ई-पास जारी कर दिये गये है। 

श्री पाण्डे ने बताया कि मुरैना जिले में 16 मई शनिवार को अल्लावेली और अटारघाट चेक पोस्टों पर 2 हजार 478 मजदूर आये, इनमें से 478 मजदूर मुरैना जिले के ही थे। इनको बसों के माध्यम से इनके घरों तक पहुंचाया गया। शेष 2 हजार लोंगो मध्यप्रदेश के ग्वालियर, अशोकनगर, गुना, टीकमगढ़ छतरपुर, पन्ना, जबलपुर, सतना, रीवा के अलावा उत्तरप्रदेश के झांसी, ललितपुर की सीमा तक मजदूरों को रवाना किया जा चुका है।

जिले में सबसे महत्वपूर्ण बाॅर्डर अल्लावेली की कमान तहसीलदार भरत कुमार एवं बानमौर बाॅर्डर की कमान नायब तहसीलदार रत्नेश शर्मा, अटारघाट बोर्डर पर तहसीलदार अजय शर्मा पूर्ण जिम्मेदारी के साथ रात दिन एक कर कार्य कर रहे है। 

चम्बल संभाग के भिण्डे जिले के 2346 प्रवासी श्रमिकों को बसों के माध्यम से पहुँचाया गया उनके गंतव्य स्थान तक  नोबल कोरोना वायरस कोविड-19 संक्रमण के दौरान जिले के प्रवासी मजदूरों को प्रदेश के विभिन्न जिलों से एवं देश के अन्य राज्यों से वापस लाया जा रहा जिसके अंतर्गत 16 मई 2020 को 2346 श्रमिक देश के अन्य राज्यों तथा प्रदेश के अन्य जिलों से भिण्ड जिले में मालनपुर बॉर्डर एवं बरई बॉर्डर पर स्वास्थ्य परीक्षण एवं स्क्रीनिग की सुविधा के अलावा सभी मजदूरों को शौचालय, ठहरने, पीने का पानी और भोजन की व्यवस्था के बाद उनके घर वापसी कराई गई।

कलेक्टर छोटे सिंह ने बताया कि देश के अन्य राज्यों से एवं प्रदेश के अन्य जिलों से आए प्रदेश के प्रवासी मजदूरों को बस के माध्यम से उनके घर भेजने की व्यवस्था की गई है।आज प्रदेश के अन्य जिलों से  जिले के 1465 प्रवासी श्रमिक एवं देश के अन्य राज्यों से जिले के 881 प्रवासी श्रमिक भिण्ड पहुँचे यहाँ बॉर्डर पर स्वास्थ्य परीक्षण एवं स्क्रीनिग की सुविधा के अलावा सभी मजदूरों को शौचालय, ठहरने, पीने का पानी और भोजन की व्यवस्था के बाद उनके घर वापसी कराई गई।