बेहोश होकर गिरी तो छात्रों ने मचाया शोर…

पढ़ाते-पढ़ाते दुनिया से विदा हो गई महिला शिक्षक


तेंदूखेड़ा/दमोह। विकासखंड के प्राथमिक स्कूल में पदस्थ महिला शिक्षिका की बच्चों को पढ़ाते समय गुरुवार को हार्ट अटैक से मौत हो गई। इसी स्कूल में पदस्थ उनके शिक्षक पति ने तुरंत अस्पताल पहुंचाया, लेकिन तब तक शिक्षिका की मौत हो चुकी थी। मृतका ऊषा जैन (55) पांजी गांव के प्राथमिक स्कूल में थीं और यहीं इनके पति कुलदीप जैन भी पदस्थ हैं। गुरुवार दोपहर 1 बजे शिक्षिका ऊषा जैन कक्षा में बच्चों को पढ़ा रही थीं।

इसी दौरान वह बेहोश होकर कुर्सी से नीचे गिर पड़ीं। छात्रों ने शोर मचाया तो उनके पति तत्काल उस कक्षा में पहुंचे और अपनी पत्नी को लेकर तेंदूखेड़ा स्वास्थ्य केंद्र पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
अपने काम के प्रति समर्पित एक शिक्षक ने बच्चों को शिक्षा देते हुए अंतिम सांस ली । 

स्कूल में उनकी मौत होते पर स्कूल के छात्र भी रोने-बिलखने लगे। बताया जाता है कि बच्चों के चिल्लाने की आवाज सुनकर स्कूल के बाकी शिक्षक कक्षा में पहुंचे उन्होंने देखा कि शिक्षिका जमीन पर पड़ी हैं। इसके बाद शिक्षक के पति ने फौरनउन्हें गोद में उठाया और उसके बाद स्कूल से आठ किमी दूर वाहन में रखकर तेंदूखेड़ा स्वास्थ्य केंद्र लेकर पहुंचे। जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। मौत की खबर सुनते ही महिला शिक्षक के पति भी रोने लगे।

महिला शिक्षक का पीएम कराया गया और उसके बाद उनके पति शव लेकर अपने घर चले गए। दोनों पति-पत्नी तेंदूखेड़ा में रहते थे और रोज स्कूल जाते थे। जानकारी के अनुसार मृत शिक्षक की तीन बेटियां व एक बेटा है। जिसमें एक बेटी दीक्षा जैन सिवनी जिले में जनपद सीईओ के पद पर कार्यरत हैं।

दूसरी बेटी दीप्ति जैन दंत रोग विशेषज्ञ है। तीसरी बेटी सानू जैन भोपाल में जज की तैयारी कर रही है और बेटा संयम जैन बैंगलोर में एक निजी कंपनी में सीएए के पद पर कार्यरत है। अब चारों बच्चों के आने के बाद शुक्रवार को महिला शिक्षक का अंतिम संस्कार किया जाएगा। फिलहाल मौत का कारण हार्ट अटैक बताया जा रहा है। बाकी जानकारी पीएम रिपोर्ट आने के बाद मिलेगी।