जिला अध्यक्ष की नियुक्ति पर हुआ था विवाद…

कोर ग्रुप की बैठक से सिंधिया का वॉकआउट !

मध्यप्रदेश भाजपा की कोर कमेटी की मंगलवार को प्रदेश कार्यालय में बैठक आयोजित की गई। बैठक के दौरान जिलाध्यक्षों की नियुक्ति को लेकर गहमागहमी हो गई। केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया बीच में ही मीटिंग छोड़कर बाहर निकल गए। उनके जाने का कारण यह बताया गया कि उनका स्वास्थ्य ठीक नहीं था। हालांकि, यह भी चर्चा है कि ग्वालियर में ्अभय चौधरी को जिलाध्यक्ष बनाया गया है। चौधरी को केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर का समर्थक बताया जाता है। इस बात को लेकर सिंधिया नाराज है। इस वजह से उन्होंने मीटिंग से वॉकआउट कर पार्टी को संकेत दिए है। 

वहीं, कोर ग्रुप की अनौपचारिक बैठक के शुरू होने से पहले कैलाश विजयवर्गीय भी बैठक से निकल गए। इससे पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक कार्यक्रम में शामिल होने गए थे। मुख्यमंत्री बैठक में शामिल होने वापस आए। इसके कुछ देर बाद ही विजयवर्गीय बैठक से निकल गए। बीजेपी की तरफ से उनके जाने का कारण जरूरी काम बताया गया। बैठक में शामिल होने पहुंचे ज्योतिरादित्य सिंधिया ने इससे पहले मीडिया से कहा कि 2023 में कमल का फूल फिर से खिलने वाला है। दूसरी ओर, नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि बीजेपी में लगातार काम को लेकर बैठकें होती रहती है। 

पार्टी लगातार आगामी योजनाओं पर काम करती रहती है। बीजेपी के महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने राहुल गांधी की यात्रा पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि साउथ से गोल टोपी पहन कर निकल है। यहां आकर कुछ तो नाटक करेंगे। बीजेपी कोर ग्रुप की बेठक में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर अहम निर्णय लिए जा सकते है। बैठक में बीजेपी प्रदेश प्रभारी मुरलीधर राव, क्षेत्रीय संगठन महामंत्री अजय जामवाल, राष्ट्रीय सह संगठन महामंत्री शिव प्रकाश, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा, प्रदेश संगठन महामंत्री हितानंद शर्मा, सांसद फग्गन सिंह कुलस्ते, वीरेंद्र खटीक, प्रहलाद पटेल समेत अन्य पदाधिकारी शामिल हुए।