तिघरा, भंवरपुरा, आरोन, घाटीगांव-पनिहार और मोहना में पुलिस कर रही सर्चिंग...

ग्वालियर में डकैत गुड्‌डा की मूवमेंट !

ग्वालियर l चंबल अंचल में सक्रिय 60 हजार रुपए के इनामी डकैत गुड्‌डा गुर्जर की तलाश में मुरैना बॉर्डर से लगे ग्वालियर के जंगल में पुलिस ने सर्च शुरू कर दी है। विशेषकर ग्वालियर के भंवरपुरा, आरोन, पनिहार, घाटीगांव व मोहना की पुलिस जंगल में सर्च कर रही है। मुख्यमंत्री के द्वारा मुरैना और ग्वालियर में आतंक मचाने वाले डकैत गुड्डा को लेकर मुरैना पुलिस को फटकार लगाई थी। इसके बाद ग्वालियर पुलिस एक्टिव मोड में आ गई है। पुलिस बल भंवरपुर और तिघरा क्षेत्र में रहने वाले डकैत के रिश्तेदारों पर भी नजर रखे हुए है। पुलिस को आशंका है कि मुरैना में दबाव बढ़ने से डकैत यहां भी शरण ले सकता है।

पिछले दो दशक से ग्वालियर-चंबल अंचल की पुलिस के लिए सिरदर्द बना डकैत गुड्‌डा गुर्जर पर अब प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह ने भी पुलिस द्वारा उसे नहीं पकड़ पाने पर नाराजगी जाहिर की है। चार दिन पहले सीएम शिवराज ने मुरैना पुलिस को गुड्‌डा को नहीं पकड़ पाने पर फटकार लगाई है, जिसके बाद पुलिस और प्रशासन हरकत में आए और सबसे पहले गुड्डाद के मकान को ध्वस्त किया। इसके बाद पुलिस ने उसके रिश्तेदारों को उठाकर पूछताछ शुरू कर दी है। मुरैना में दबाव बढ़ा तो डकैत गुड्‌डा ग्वालियर या राजस्थान के धौलपुर निकलने की कोशिश कर सकता है। ग्वालियर पुलिस ने अपने यहां सर्चिंग शुरू कर दी है, क्योंकि ग्वालियर के तिघरा, भंवरपुरा गुर्जर बाहुल्य गांव हैं। 

यहां पहले भी गुड्‌डा शरण लेता रहा है। यहां हाल ही में हुए पंचायत चुनाव में भी उसका दखल देखने को मिला था। भंवरपुरा में कुछ दिन पहले ही उसने फायरिंग की थी। मुरैना जिले का जंगल ग्वालियर जिले की सीमा से सटा हुआ है। जंगल के रास्ते कई बार गुड्डा गुर्जर और उसकी गैंग का मूवमेंट ग्वालियर के भंवरपुरा, घाटीगांव, तिघरा और मोहना के जंगलों में मिला है। इस सूचना पर ग्वालियर पुलिस एक्टिव हो गई है और पुलिस की टीमें भी जंगल में उतर गई है। 

क्राइम ब्रांच टीम के साथ साथ भंवरपुरा, घाटीगांव, मोहना और तिघरा के जंगलों में पुलिस अलर्ट मोड पर है, जिसमें चारो थानों की पुलिस सर्चिंग कर रही है। खासकर भंवरपुरा और तिघरा थाने की पुलिस आस-पास के गांव में भी सर्चिंग कर रही है, क्योंकि यहां दोनों थाना क्षेत्रों में डकैत गुड्डा गुर्जर के रिश्तेदार रहते हैं। यहां लोग पहले भी उसकी मदद करते रहे हैं। इसका इनपुट ग्वालियर पुलिस के पास भी है, लेकिन अभी तक इस गैंग का कोई मददगार ग्वालियर पुलिस ने नहीं पकड़ा है। फिलहाल पुलिस का मानना है कि आतंक मचाने वाले 60 हजार के इनामी डकैत गुड्डा गुर्जर सहित उसकी गैंग को जल्द ही मार गिराएगी।