रेहू एवं कतला स्थानीय प्रजाति की मछलियों के बच्चों को छोडा…

जलविहार में महापौर एवं सभापति ने छोडे 12000 मछलियों के बच्चे


ग्वालियर। जलविहार परिसर में बने जलाशय में महापौर डॉ शोभा सतीश सिंह सिकरवार, सभापति मनोज सिंह तोमर एवं अपर आयुक्त अतेंद्र सिंह गुर्जर ने 12000 मछलियों के बच्चों को छोडा। इसके साथ ही वहां पर आने वाले आमजनों से अपील की गई कि वह मछलियों को खिलाने के लिए आटा नहीं डाले। आटे की जगह वह मछलियों को दिए जाने वाले दाने का उपयोग करें। 

क्योंकि आटा पानी में जाने के बाद सडना प्रारंभ कर देता है जो कि बाद में हानिकारक हो जाता है। जलविहार में मछलियों के छोडे जाने से जलाशय का पानी भी साफ रहेगा क्योंकि जलाशय में रेहू एवं कतला स्थानीय प्रजाति की मछलियों के बच्चों को छोडा गया है जो कि काई आदि को तेजी से खाती हैं।