17 सितम्बर से 31 अक्टूबर तक चलेगा  मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान ...

हमारी जवाबदारी है  कि  योजनाओं का लाभ हितग्राही को समय पर मिले : श्री सिलावट



ग्वालियर 07 सितम्बर 2022 l  केन्द्र सरकार एवं प्रदेश सरकार द्वारा आम जनों के हित में अनेक कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। योजनाओं का लाभ पात्र हितग्राहियों को समय पर मिले और उसके जीवन स्तर में बदलाव आए , यह सरकार की मंशा है। शासन की मंशा अनुरूप सभी अधिकारी अपने – अपने विभाग की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ शतप्रतिशत पात्र हितग्राहियों को उपलब्ध कराएँ। योजनाओं के क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होना चाहिए। प्रदेश के जल संसाधन, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विकास मंत्री एवं ग्वालियर जिले के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ने बुधवार को मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के क्रियान्वयन के संबंध में अधिकारियों की बैठक में यह निर्देश दिए हैं। 

17 सितम्बर 2022 से 31 अक्टूबर 2022 तक सम्पूर्ण प्रदेश के शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में संचालित होने वाले मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान का ग्वालियर जिले में बेहतर क्रियान्वयन हो, इसी उद्देश्य से विभागीय अधिकारियों की बैठक आयोजित हुई। जल संसाधन मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री तुलसीराम सिलावट ने कहा कि अभियान में केन्द्र सरकार एवं प्रदेश सरकार की चिन्हित योजनाओं का शतप्रतिशत लाभ सभी पात्र हितग्राहियों को उपलब्ध कराया जाना है। उन्होंने कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह से कहा कि ग्वालियर जिले में इस महत्वपूर्ण अभियान का बेहतर क्रियान्वयन हो, इसकी पूरी रणनीति बनाकर कार्रवाई करें। अभियान के दौरान शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में घर-घर सर्वेक्षण कर चिन्हित योजनाओं के पात्र हितग्राहियों का चयन और शिविर आयोजित कर हितग्राहियो को उसका लाभ दिलाने का कार्य प्राथमिकता से किया जाए। इस अभियान में विभागीय अधिकारियों के साथ-साथ जनप्रतिनिधियों और समाज के जागरूक नागरिकों को भी जोड़ा जाए। 

प्रभारी मंत्री सिलावट ने कहा है कि केन्द्र सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत पात्र हितग्राहियों को एक रूपए किलो अनाज उपलब्ध कराया जा रहा है। उचित मूल्य की दुकान के माध्यम से सभी पात्र लोगों को समय पर अनाज उपलब्ध हो, यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए। गरीबों के लिये उपलब्ध कराए गए अनाज वितरण में किसी भी प्रकार की अगर लापरवाही पाई जाए तो संबंधित के विरूद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने निर्देशित किया कि ग्वालियर जिले की सभी 555 उचित मूल्य दुकानों पर फ्लैक्स लगाकर शासन की योजनाओं और पात्रता के संबंध में जानकारी आम नागरिकों को दी जाए। प्रभारी मंत्री श्री सिलावट ने आयुष्मान कार्ड की समीक्षा के दौरान कहा है कि ग्वालियर जिले में हर पात्र व्यक्ति का आयुष्मान कार्ड बने और उसे पाँच लाख रूपए तक नि:शुल्क उपचार मिले, यह सरकार की मंशा है। 

शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में शिविर लगाकर लोगों को आयुष्मान कार्ड उपलब्ध कराए जाएँ। उन्होंने कहा कि हर आवासहीन को आवास उपलब्ध कराना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। एंटी माफिया अभियान के तहत माफियाओं से मुक्त कराई गई भूमि पर आवासहीनों को पट्टे मिलें, इसके लिये अभियान के दौरान कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही ग्रामीण पथ विक्रेता और पीएम स्वनिधि योजना के माध्यम से अधिक से अधिक जरूरतमंदों को बिना ब्याज का लोन मिले, इसके भी विशेष प्रयास होने चाहिए। लाड़ली लक्ष्मी योजना के हितग्राहियों का सम्मेलन जिले में आयोजित किया जाए। ग्वालियर जिले में स्वीकृत सभी संजीवनी क्लीनिक भी शीघ्र प्रारंभ हों। इसके लिये स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम विशेष प्रयास करें। संजीवनी क्लीनिक के माध्यम से आम जनों को स्वास्थ्य सुविधायें मिलें, इसके लिये सभी प्रबंध किए जाएँ। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य, शिक्षा और स्वच्छता के कार्य को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाना चाहिए। राजस्व प्रकरणों की समीक्षा के दौरान कलेक्टर से कहा कि जिले में नामांकन, सीमांकन और बँटवारे के लंबित प्रकरणों के निराकरण के लिये विशेष प्रयास किए जाएं। अभियान के दौरान सभी लंबित प्रकरणों का निराकरण हो, यह भी सुनिश्चित किया जाए।

नगर निगम आयुक्त श्री किशोर कान्याल से कहा है कि शहर में बरसात के कारण या अन्य कारणों से जो सड़कें खराब हुई हैं उन पर पेंच रिपेयरिंग का कार्य युद्ध स्तर पर किया जाए। इसके साथ ही नई सड़कों के निर्माण का कार्य भी शीघ्र प्रारंभ हो ताकि लोगों को आवागमन की बेहतर सुविधायें मिल सकें।श्री सिलावट को बताया कि मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान के क्रियान्वयन के लिये सभी तैयारियाँ कर ली गई हैं। शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में दल गठित भी कर लिए गए हैं। दल के सदस्यों के प्रशिक्षण की भी व्यवस्था की गई है। अभियान के प्रारंभ में हर पंचायत एवं वार्ड स्तर पर सर्वेक्षण कर हितग्राहियों का चयन किया जायेगा। इसके साथ ही शिविर लगाकर हितग्राहियों को हितलाभ का वितरण भी किया जायेगा। शिविर में जो हितग्राही शेष रह गए होंगे, उनके आवेदन पत्र लेकर उन्हें भी लाभान्वित करने का कार्य किया जायेगा। उन्होंने यह भी बताया कि शहरी क्षेत्र में योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन के लिये एक नवाचार भी किया गया है। इसमें 200-300 घरों के ऊपर प्रत्येक वार्ड में एक सहायक को तैनात किया जा रहा है। यह सहायक घर-घर सर्वेक्षण कर पात्र हितग्राहियों को चिन्हित करने तथा उन्हें योजनाओं का लाभ उपलब्ध कराने का कार्य करेगा। इस सहायक को अधिकार भी प्रदान किए जायेंगे ताकि छोटे-छोटे कामों के लिये उसे परेशान न होना पड़े। कलेक्टर श्री सिंह ने प्रभारी मंत्री को आश्वस्त किया कि ग्वालियर जिले में अभियान के दौरान चिन्हित सभी योजनाओं के पात्र शतप्रतिशत हितग्राहियों को योजना का लाभ दिलाया जायेगा। बैठक में इमरती देवी, मुन्नालाल गोयल, कौशल शर्मा ने भी अपने महत्वपूर्ण सुझाव दिए।