पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ  की पीसीसी में मीडिया से चर्चा के प्रमुख बिंदु ...

पोषण आहार का मामला हम विधानसभा में उठाएंगे : श्री नाथ 

भोपाल l  पोषण आहार का मामला हम विधानसभा में उठाएंगे लेकिन मैं एक बात स्पष्ट करना चाहता हूं कि वर्ष 2021 की रिपोर्ट में प्रदेश का श्यौपुर ज़िला सबसे ज़्यादा कुपोषित ज़िले के रूप में सामने आया है। 21000 बच्चे कुपोषित , 5000 बच्चे अति कुपोषित , यह वहाँ की स्थिति है। पोषण आहार घोटाले के भ्रष्टाचार में भी श्यौपुर सबसे आगे आया है  और आज कुपोषण पर ध्यान देने की जगह मोदी जी और शिवराज जी श्यौपुर इवेंट करने जा रहे है। उनको तो वहां जाकर कुपोषण पर बात करना चाहिए ,पोषण आहार घोटाले पर बात करना चाहिये। -पहले वहां से कुपोषण दूर करना चाहिए ,पोषण आहार घोटाले पर बात करना चाहिए , चीते तो बाद में भी छोड़े जा सकते हैं।

भाजपा में क्या हो रहा है उसमें मेरी कोई दिलचस्पी कभी नहीं है।हाँ कांग्रेस में कुछ होता है तो उनके पेट में दर्द होता है , भाजपा में कुछ भी होता है तो मेरे पेट में दर्द नहीं होता है। उमा भारती जी शराबबंदी पर बात करना चाहती है , नशा मुक्ति पर बात करना चाहती है तो भारत जोड़ो यात्रा में आए और अपनी बात रखे , इसलिये मेने उन्हें आमंत्रित किया है।

भाजपा की पुरानी आदत है , वो मुद्दों से भटकाने में माहिर हैं। वो कुपोषण पर बात नहीं करेंगे ,नौजवानों की बात नहीं करेंगे , किसानों की बात नहीं करेंगे ,छोटे व्यापारियों की बात नहीं करेंगे ,आज पीएससी के बच्चे परेशान है , उस पर बात नहीं करेंगे…बात करेंगे तो चीते पर , चीन पर , पाकिस्तान पर…-हर समाज का अधिकार है कि वह प्रतिनिधित्व की माँग करे। जो भी जीतने वाले होंगे ,हम उनको टिकट देंगे।हर समाज के साथ न्याय होना चाहिए , यह हमारी सोच है।  जयस के लोग मुझसे मिलते रहते हैं ,चर्चा करते रहते हैं ,युवा है , उनमें उत्साह है।