नोट गिनने के लिए मगवानी पड़ी मशीनें ...

एक्जीक्यूटिव इंजीनियर के घर से 5 करोड़ नगद मिले 


पटना l  पटना में विजीलेंस ने रूरल डवलपमेंट डिपार्टमेंट के एक्जीक्यूटिव इंजीनियर के ठिकानों से 5 करोड़ रूपये से अधिक नगद कैश जब्त किया हे। इंजीनियर संजय राय के पटना के 2 और किशनगंज के 3 ठिकानों पर छापेमारी की गयी है। पटना के ठिकानों से सवा करोड़ रूपये नगद कैश तो किशनगंज से 4 करोड़ रूपये नगद मिले हैं। दोनों ठिकानों पर कैश गिनने के लिये नोट गिनने की मशीने मंगवाई गयी है।

इंजीनियर संजय राय का घर पटना के बसंत बिहार कॉलोनी में है। जबकि तैनाती किशनगंज जिले में हैं। बिजीलेंस की 2 टीमों ने शनिवार की सुबही 7 बजे एक साथ पटना और किशनगंज में छापे डाले जिसमें किशनगंज 13 सदस्य की टीम ने संजय राय के रूईधाशा, उसके पर्सनल असिस्टेंट ओमप्रकाश यादव के लाइनपाड़ा और कार्यालय के कैशियर खुर्रम सुल्तान के लाइनपाड़ा में बने घर पर छापेमारी की।

दोनों ठिकाने पर छापेमारी में जब्त कैश लगभग 3 करोड़ रूपये पर्सनल असिस्टेंट ओमप्रकाश यादव के घर से 4 करोड़ और कैशियर के घर से लगभग 1 करोड़ नगद कैश मिला है और ओमप्रकाश यादव का संजय कुमार ने अपने खर्च पर रखा था। इसी के जरिये वसूली करता था। पटना मे संजय राय के घर से सवा करोड़ रूपये, लाखों रूपये की ज्वेलरी, बड़े स्तर पर जमीन और फायनेंशियल इन्वेस्टमेंट के दस्तावेज मिले हैं। जिनकी जांच की जा रही है।

इंजीनियर के बैंक स्टेटमेंट को भी विजिलेंस टीम चेक कर रही है। पटना में छापेमारी कर रहे DSP सुजीत कुमार सागर के अनुसार इंजीनियर की अवैध कमाई की शिकायत मिलने पर जांच की गई थी। इसमें भ्रष्टाचार के ठोस सबूत मिले थे। इसके बाद ही पटना स्थित निगरानी थाना में इनके खिलाफ से आय से अधिक संपत्ति का केस दर्ज किया गया था। फिर विजिलेंस टीम कोर्ट से इनके ठिकानों को सर्च करने के लिए परमिशन मांगा गया था। कोर्ट से आदेश मिलते ही कार्रवाई कर दी गई। शाम तक इस मामले में और भी नए खुलासे हो सकते हैं।