जन्माष्टमी पर उमा भारती बोलीं...

'दूध दही खाओ,प्रभु के गुण गाओ, और नशा-मदिरा भगाओ', :उमा भारती



मध्य प्रदेश की नई शराब नीति पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के बीच कुछ बड़ा पक रहा है. इसका इशारा उमा भारती के बैक टू बैक आठ ट्वीट में देखा जा सकता है. उन्होंने श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की सभी को शुभकामनाएं देते हुए अपनी बात खत्म की और कहा कि, "श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का संदेश- दूध दही खाओ, प्रभु के गुण गाओ, नशा-मदिरा भगाओ."

उमा भारती ने बड़े ही दार्शनिक अंदाज में कहा, "मैं लगभग 25 साल से केदारनाथ (हिमालय) जाती हूं. केदारनाथ जी का शिवलिंग ज्योतिर्लिंग है, जो पाषाण स्वरूप है किंतु मेरे जैसे करोड़ों लोगों की आस्था ने उसके चैतन्य का आह्वान किया है तथा इसके फलस्वरूप हमारी मनोकामनाएं पूरी होती हैं. मैं एक विश्वासी व्यक्ति हूं. मैंने भी अप्रैल से लेकर अभी तक मध्य प्रदेश की शराब नीति में संशोधन पर कुछ समय तक परामर्श किया, धैर्य रखा और इन मुलाकातों पर कोई वक्तव्य नहीं दिया."

मैं एक विश्वासी व्यक्ति हूं मैंने भी अप्रैल से लेकर अभी तक मध्य प्रदेश की शराब नीति में संशोधन पर कुछ समय तक परामर्श किया, धैर्य रखा एवं इन मुलाकातों पर कोई वक्तव्य नहीं दिया— Uma Bharti (@umasribharti) August 19, 2022

उन्होंने ट्वीटर पर लिखा "शराब नियंत्रण पर मेरी अगाध आस्था, धैर्य एवं विश्वास काम आया. मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री ने खुद बयान दिया कि वर्तमान शराब नीति में यथासंभव बदलाव के प्रयास होंगे. 1 अप्रैल 2023 से लागू होने वाली नई शराब नीति में सभी से परामर्श, सभी की सुरक्षा एवं सभी का समान ध्यान रखा जाएगा."

बीजेपी की सीनियर लीडर उमा भारती ने खुलासा किया कि "अभी हाल ही में मेरी और शिवराज जी की दो बैठकें हो चुकी हैं. वर्तमान शराब नीति में यथासंभव परिवर्तन और नई शराब नीति का प्रारूप दोनों पर कुछ ही दिनों में रणनीति बन जाएगी." उन्होंने अंत में कहा कि बाकी बातें कुछ ही दिनों में और स्पष्ट हो कर सामने आ जाएंगी लेकिन 2 अक्टूबर को भोपाल में महिलाओं का कार्यक्रम यथावत रहेगा.