शॉर्ट सर्किट के कारण !

नगरनिगम मुख्यालय में लगी आग, मेयर ले रही थी पहली बैठक


ग्वालियर। नगरनिगम के सिटी सेंटर स्थित मुख्याल की तीसरी मंजिल में आग लग गई। फायरब्रिगेड अमले के कर्मचारी आग को बुझाने व भवन में भरे धुएं को निकालने का प्रयास किया। वही समय रहते निगम के कर्मचारियों ने आग पर काबू पा लिया। आग की सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड की एक गाड़ी मौके पर जा पहुंची लेकिन उससे पहले ही आग बुझ चुकी थी। कोई जनहानि नहीं हुई है आग लगने का कारण शॉर्ट सर्किट होना बताया जा रहा है। अभी तक आग लगने की वजहों का पता नहीं चला है। साथ ही आग से क्या नुकसान हुआ है इसका भी पता नहीं चला है। 

आग से पूरे भवन में काम करने वाले कर्मचारियों में हडक़ंप मच गया है। खासबात यह है कि मेयर शोभा सिकरवार एमआईसी सदस्यों व विधायक सतीश सिकरवार के साथ निगम की पहली मंजिल पर बैठक कर रहे थे। उसी दौरान आग लग गई। हालांकि आग से सभी सुरिक्षत बताए जाते हैं। घटनाक्रम के मुताबिक मेयर शोभा सिकरवार, विधायक सतीश सिकरवार, आयुक्त किशोर कान्याल सहित एमआईसी मेंबर सुबह करीब 11 बजे निगम के सिटी सेंटर स्थित मुख्यालय की पहली मंजिल पर सभागार में बैठक कर रहे थे। 

इसी दौरान मुख्यालय की तीसरी मंजिल पर सीवर सेल के शिशिर श्रीवास्तव के कक्ष में आग लग गई। उस समय इंजीनियर शिशिर श्रीवास्तव मीटिंग में गए हुए थे। आग शिशिर श्रीवास्तव के केबिन में लगी ऐसी में अचानक शार्ट सर्किट के चलते आग लग गई देखते ही देखते केबिन में रखी फाइल कुर्ती और अन्य सामान जल गया। आग तुरंत ही भडक़ गई और आसपास के क्षेत्र को अपनी चपेट में ले लिया। आग से पूरे भवन में धुंआ भर गया। तुरंत ही फायरब्रिगेड अमले को आग बुझाने के लिए बुला लिया गया। हालांकि आग किस वजह से लगी अभी तक पता नहीं चला है। 

निगम में मौजूद कर्मचारियों ने छतों की सीलिंग को तोडक़र भवन में आग की वजह से भरे धुएं को निकालने का प्रयास कर रहे थे। आग की वजह से कर्मचारियों में अफरा तफरी का माहौल बना हुआ था। हालांकि सभी कर्मचारी व अन्य लोग सुरिक्षत बताए गए हैं। फायर ब्रिगेड अधिकारी एतियात सिंह गुर्जर ने बताया कि नगर निगम कार्यालय इंजीनियर के केबिन में आग लगने की सूचना मिली थी। सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड की एक गाड़ी मौके लाई गई थी। लेकिन नगर निगम कर्मचारियों द्वारा पहले ही आग बुझा दी गई थी इंजीनियर के खेल में लगे एसी में शॉर्ट सर्किट के चलते आग लग गई थी। कोई जनहानि नहीं हुई है।