यह कैसी स्मार्ट सिटी... 

बारिश से खुली प्रशासन की पोल !

ग्वालियर। यह है थीम रोड और एमएलबी कॉलेज की बाउंड्री के बगल की जगह। जहां पर 2001 में गुलाब गार्डन तैयार किया गया था। 10 साल बाद वहां पर लॉन तैयार की गई थी। इससे पूरा पानी जमीन में जाता था। अब आरसीसी बिछा दी गई। पानी भरा हुआ है जमीन में नहीं जाएगा। 

इसके बाद भी हम वाटर लेवल डाउन होने की शिकायत करें, फिर तो यह बेमानी है। वार्ड नंबर 58 और शहर की पॉश कॉलोनी माधव नगर का भी यही नजारा है, कॉलोनी हाउसिंग बोर्ड द्वारा बनवाई गई इसी वार्ड में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया का भी निवास है। 

ग्वालियर के वार्ड क्रमांक 64 पुरानी छावनी बिजासन माता मंदिर के पास गंदगी का अंबार पसरा हुआ है। जिसको देखते हुए लगातार रह वासियों ने कई बार नगर निगम व 181 पर कई बार शिकायत भी की लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। क्षेत्र वासियों की समस्या का समाधान नहीं हो पा रहा है। वही बारिश होते ही गली में कीचड़ के साथ पानी जमा हो जाता है। 

जिससे आने जाने वाले राहगीरों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। वहीं इस क्षेत्र से मंत्री भारत सिंह कुशवाह चुने गए हैं। कई बार मंत्री से भी शिकायत करने पर कोई कार्रवाई का आश्वासन नहीं मिला है। जिसको देखते हुए क्षेत्रवासी काफी परेशान हैं। इस पर बात करते हुए क्षेत्रवासियों का कहना है या समस्या विगत काफी समय से चली आ रही है लेकिन अभी तक कोई सुनवाई नहीं हुई है।