आजादी केअमृत महोत्सव के तहत…

जिले के करीब तीन लाख स्थानों पर फहराया जाएगा राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा

ग्वालियर। गली-मोहल्ले, स्कूल-कॉलेज और इसी तरह के दूसरे जिले के करीब तीन लाख स्थानों पर राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा फहराया जाएगा। यह सब आजादी के अमृत महोत्सव के तहत होगा। इसका मकसद लोगों में देशभक्ति की भावना व राष्ट्रीय ध्वज के बारे में उन्हें जागृत करना रहेगा। इसके लिए 11 से 17 अगस्त के बीच अभियान चलेगा। तिरंगा कहां मिलेगा, कहां-कहां और कैसे फहराए जाएंगे, इसके लिए पहली बैठक सोमवार को रखी गई है। जिला पंचायत सीईओ आशीष तिवारी ने इस अभियान की पुष्टि करते हुए कहा कि प्लान तैयार हो चुका है। 

सोमवार को वे अफसरों से चर्चा करेंगे। तिवारी ने कहा कि चूंकि तिरंगा ध्वज की मांग अधिक रहेगी, इसलिए हमारी टीम शॉर्ट टाइम की ट्रेनिंग भी महिलाओं को देगी। जिले में हर घर तिरंगा फहराने का जो प्लान तैयार हुआ है, उसमें 3 लाख 21 हजार तिरंगों का लक्ष्य तय किया गया है। इसमें 1.91 लाख घर शहरी क्षेत्र के हैं, जबकि 90 हजारग्रामीण क्षेत्र के। बाकी रहे 40 हजार में शहरी क्षेत्र के बाजार, दफ्तर सहित अन्य प्रतिष्ठान शामिल किए गए हैं। मप्र डे राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के डीपीएम विनीत गुप्ता ने कहा कि तिरंगा बनाने के काम में स्व सहायता समूह से जुड़ीं 350 महिलाओं की मदद ली जाएगी। 

उन्होंने कहा कि सामान्य तौर पर छोटे तिरंगों की बिक्री 20 से 25 रुपए में की जाएगी। तिरंगा फहराने से पहले शहर के लोगों को ध्वज संहिता के मुख्य अंश भी बताए जाएंगे ताकि तिरंगे का सम्मान सभी आदर के साथ करें। इसी दौरान तिरंगा कब और कैसे फहराना है ? सात दिन के अभियान के बाद क्या करना है? सरकारी परिसर में सूर्योदय पर ध्वजारोहण व सूर्यास्त पर ध्वज को सम्मान के साथ उतारने के बारे में भी जानकारी दी जाएगी। इसके लिए जिला पंचायत की टीम अलग-अलग संगठनों की भी मदद ले सकती है।