नूपुर शर्मा के समर्थक पर जानलेवा हमले पर बोले गृहमंत्री…

बजरंग दल नेता के 13 हमलावरों पर होगी NSA की कार्रवाई : नरोत्तम मिश्रा

मध्यप्रदेश के आगर मालवा में नूपुर शर्मा का समर्थन करने पर 26 साल के आयुष पर जानलेवा हमला हुआ। बुधवार को 13 आरोपियों ने उसे घेरकर हत्या की कोशिश की। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने सभी आरोपियों पर NSA (राष्ट्रीय सुरक्षा कानून) लगाने की बात कही है। उन्होंने कहा कि 8 आरोपी गिरफ्तार कर चुके हैं। मध्यप्रदेश शांति का टापू है। हम शांति किसी को भंग नहीं करने देंगे। गंभीर अपराध मानते हुए सभी पर धारा 307 (हत्या का प्रयास) के तहत कार्रवाई की गई है। सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएगी। अतिक्रमण अभियान भी आज से शुरू किया जाएगा। घटना बुधवार दोपहर 12 बजे उज्जैन रोड पर रॉयल ढाबे के पास हुई। 

फलमालीपुरा (आगर) का रहने वाला आयुष बाइक से जा रहा था, तभी आरोपी अमल, अरबाज, आसिफ, सरफराज, चिकी, अम्मू मेवाती, अमन, सोहेल, मुन्ना मेवाती, सलमान, फिरदौस, समीर और साजिद ने उसका रास्ता रोका। टायर खोलने के औजार और चाकू से जानलेवा हमला कर दिया। घायल हालत में आयुष को जिला अस्पताल आगर ले जाया गया। वहां से उज्जैन रेफर कर दिया गया। उसने अस्पताल में बताया- मैं बाइक से जा रहा था। 12-13 लड़कों ने मुझे हाथ दिखाकर रोका, फिर मुझसे मेरा नाम और बजरंग दल के संयोजक होने के बारे में पूछा। 

जब मैंने उन्हें हां कहा तो उन्होंने पूछा कि क्या आपने नूपुर शर्मा के बारे में बाइट दी थी? जैसे ही मैंने हां कहा तो उन्होंने मुझ पर हमला कर दिया। वो कह रहे थे कि गला काट दो इसका। जान से मार दो इसे...। उनके हाथ में तलवार थी, धारदार हथियार थे, टांगी (छोटी कुल्हाड़ी) थी, उन्होंने मुझे पत्थर से भी मारा। घटना के बाद हिंदूवादी संगठनों की ओर से पहले एसपी कार्यालय और फिर थाने का घेराव किया गया। वे आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर, जल्द उनकी गिरफ्तारी की मांग कर रहे थे। देर तक चले इस हंगामे के बाद पुलिस हरकत में आई। 

पुलिस ने आशुतोष सोनी (निवासी पाल रोड, आगर) की शिकायत पर आरोपियों के खिलाफ हत्या के प्रयास, बलवा सहित मारपीट की अन्य धाराओं में केस दर्ज किया है। सीहोर के रोहित सालवी ने 11 जून को नूपुर शर्मा का समर्थन करते हुए सोशल मीडिया में पोस्ट डाली थी। कुछ लोग गणेश मंदिर के पास उसके घर पर मारपीट करने भी पहुंच गए थे। ये लोग पड़ोसी को रोहित समझकर जान से मारने की धमकी देकर भाग निकले। रोहित घर आया, तब उसके पड़ोसी ने बताया कि कुछ लोग उसे मारने आए थे, इसके बाद एक बार फिर वही लोग रोहित को डराने-धमकाने लगे। रोहित ने इसकी शिकायत थाना कोतवाली में की थी। पुलिस ने आरोपियों की पहचान कर कस्बा निवासी साहिल और चार अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था।