राज्यसभा उम्मीदवारों पर कांग्रेस में असंतोष के सुर !

शायद मेरी तपस्या में कुछ कमी रह गई’ : पवन खेड़ा  


नई दिल्ली: कांग्रेस पार्टी ने राज्यसभा चुनाव के लिए अपने 10 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर दिया. पार्टी के कई दिग्गज नेताओं का नाम इस लिस्ट में नहीं है. ऐसे में पार्टी में असंतोष के सुर उठते दिख रहे हैं. ज्यादा सवाल राजस्थान उम्मीदवारों के नाम पर उठ रहे हैं. राजस्थान से रणदीप सिंह सुरजेवाला, मुकुल वासनिक और प्रमोद तिवारी को उम्मीदवार बनाया गया है. ये तीनों ही उम्मीदवार राजस्थान से ताल्लुक नहीं रखते. राजस्थान के सिरोही से कांग्रेस विधायक संयम लोढ़ा ने सवाल उठाते हुए कहा है कि पार्टी को बताना होगा कि राजस्थान से किसी को भी उम्मीदवार क्यों नहीं बनाया गया.

लोढ़ा ने ट्वीट करते हुए लिखा है, 'कांग्रेस पार्टी को यह बताना चाहिए कि राजस्थान के किसी भी कांग्रेस नेता/कार्यकर्ता को राज्यसभा चुनाव में प्रत्याशी नहीं बनाने के क्या कारण है?'  इसके साथ ही उन्होंने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी को टैग भी किया है. इतना ही नहीं असंतोष का सुर कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता पवन खेड़ा का भी दिख रहा है. राजस्थान के रहने वाले पवन खेड़ा कांग्रेस में राज्यसभा के दावेदार थे. लेकिन उनका नाम भी लिस्ट में शामिल नहीं है. लिस्ट जारी होने के बाद उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है, ‘शायद मेरी तपस्या में कुछ कमी रह गई'. हालांकि, इसके अलावा उन्होंने कुछ लिखा नहीं है. लेकिन इसे राज्यसभा उम्मीदवारों की लिस्ट से जोड़कर देखा जा रहा है. 

इस लिस्ट में गुलाम नबी आजाद और आनंद शर्मा का नाम भी शामिल नहीं है. ये दोनों ही नेता 'जी-23' समूह में हैं, जिन्होंने कांग्रेस नेतृत्व में बदलाव को लेकर कई बार वकालत की है.इसी बीच राजस्थान भाजपा प्रमुख सतीश पूनिया ने भी कांग्रेस पार्टी पर चुटकी ली है. उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा है, 'कांग्रेस का चिंतन शिविर हुआ राजस्थान में, अब लीजिये इस चिंतन की एक और उपलब्धि. अब स्थानीय उम्मीदवारों का टोटा….बिना 'लोकल' कौन होगा 'वोकल'…'राजस्थान के अलावा छत्तीसगढ़ में भी दोनों बाहरी नेताओं राजीव शुक्ला और रणजीत रंजन को राज्यसभा का टिकट दिया गया है. दस उम्मीदवारों में से केवल तीन पी चिदंबरम, जयराम रमेश और विवेक तन्खा को अपने राज्यों से टिकट दिया गया. बाकी सात उम्मीदवार बाहरी हैं. राजस्थान और छत्तीसगढ़ दोनों ही चुनावी राज्य हैं और ऐसे में कांग्रेस के इस फैसले पर सवाल उठ रहे हैं. 

इन्हे बनाया गया है उम्मीदवार 

छत्तीसगढ़ से राजीव शुक्ला और रणजीत रंजन, हरियाणा से अजय माकन, कर्नाटक से जयराम रमेश, मध्य प्रदेश से विवेक तन्खा, महाराष्ट्र से इमरान प्रतापगढ़ी, राजस्थान से रणदीप सिंह सुरजेवाला, मुकुल वासनिक और प्रमोद तिवारी और तमिलनाडु से पी चिदंबरम को उम्मीदवार बनाया है.