सिर्फ प्रसूता अवकाश और चिकित्सा अवकाश को मिली छूट…

चुनाव प्रक्रिया पूरी होने तक, छुटि्टयों पर लगी रोक, पहले से मंजूर अवकाश भी निरस्त

ग्वालियर। नगरीय व ग्रामीण निकाय चुनाव की प्रक्रिया प्रारंभ होते ही सरकारी अमले की छुटि्टयों पर कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी आशीष तिवारी ने रोक लगा दी है। गुरुवार को जारी इस आदेश के बाद अब गर्मी की छुट्‌टियों में परिवार के साथ घूमने का पहले से कार्यक्रम बना चुके अधिकारी-कर्मचारियोंं को सबसे ज्यादा परेशानी होगी। चुनाव के कारण कलेक्टर के इस आदेश का पालन केंद्रीय दफ्तरों में काम करने वाले अधिकारी-कर्मचारियों पर भी होगा।

इस आदेश में सिर्फ प्रसूता अवकाश और गंभीर बीमार ऐसे अधिकारी-कर्मचारी जो चिकित्सा अवकाश पर हैं, को छूट दी गई है। अन्य किसी को छुट्‌टी की आकस्मिक जरूरत पढ़ने पर आवेदन अपने विभाग प्रमुख के माध्यम से अपर कलेक्टर एचबी शर्मा से मंंजूर कराना होगा। कलेक्टर ने छुटि्टयों से संबंधित पहले से मंजूर सभी आवेदन भी निरस्त कर दिए हैं। यह आदेश चुनाव प्रक्रिया पूरी होने तक जारी रहेगा। 

नगरीय निकाय चुनाव कब होंगे, इसको लेकर स्थिति अभी भी साफ नहीं है पर ईवीएम की एफएलसी चालू हो चुकी है। हैदराबाद से ईवीएम की एफएलसी (फर्स्ट लेवल चेकिंग) करने के लिए आठ इंजीनियरों की टीम ने गुरुवार से कलेक्ट्रेट में काम चालू कर दिया है। उप जिला निर्वाचन अधिकारी विनोद भार्गव ने कहा कि नगरीय निकाय चुनाव ईवीएम से ही होंगे, यह तय हो चुका है। इसलिए एफएलसी का काम अगले आठ दिन में पूरा कर लिया जाएगा।