रमौआ नदी के किनारे बसाई जा रही फ्लॉवर सिटी…

मुरार नदी के बहाव क्षेत्र में अतिक्रमण को जिला प्रशासन की टीम ने हटवाया

ग्वालियर। रमौआ बांध से होते हुए मुरार नदी बहती है, मुरार नदी के बहाव क्षेत्र में आसपास बन कॉलोनी के कोलोनाइजर ने नदी के बहाव क्षेत्र में रिटनिंग बॉल बना दी थी। जिसे जिला प्रशासन के अधिकारियों ने मदालखत दस्ता की मदद से उक्त बॉल को हटा दिया गया है। यह अतिक्रमण बिल्डर लक्ष्य होम डवलपर्स प्रोजेक्ट प्रा. लिमिटेड के द्वारा किया गया था। ऐसा बताया जा रहा है कि लक्ष्य होम डवलपर्स प्रोजेक्ट के डायरेक्टर तरूण गोयल पुत्र अशोक गोयल निवासी दालबाजार लश्कर ने गांव रमौआ के सर्वे नम्बर 240 में नदी में से रकबा 500वर्ग मीटर का अतिक्रमण हटाया गया।अतिक्रमण की गयी जमीन का बाजार का मूल्य 51 लाख 5 हजार रूपये हैं। 

राजस्व निरीक्षक (आरआई) होतम सिंह कुशवाह ने बताया कि झांसी बायपास स्थित रमौआ नदी के किनारे बसाई जा रही फ्लॉवर सिटी टाउनशिप के मालिकों ने नदी का बहाव मोड़ने के लिए आरसीसी और खंडों की दीवार बना दी थी। जबकि, नदी क्षेत्र से 30 मीटर तक कोई निर्माण कार्य नहीं किया जा सकता। शिकायतें मिलने पर निरीक्षण किया गया और अतिक्रमण चिन्हित कर दीवार को तोड़ने की कार्रवाई की गई। यहां बिल्डर द्वारा जितनी जमीन दीवार के अंदर करके अपने कब्जे में ले ली थी। उसे भी मुक्त करा लिया गया है और इसकी कीमत लगभग एक करोड़ रुपए है।वहीं इस मामले में फ्लाॅवर सिटी टाउनशिप के प्रमोटर व जीवाजी क्लब के सचिव तरूण गोयल का कहना है कि प्रशासन ने हमें कोई नोटिस नहीं दिया था और दूसरी बार दीवार तोड़ने की कार्रवाई कर दी। जबकि नगर निगम से हमें दीवार की मंजूरी मिली हुई है। हरगोविंदपुरम के सरकारी पार्क से भी गुरुवार को अतिक्रमण हटाया गया।

एसडीएम सीबी प्रसाद ने बताया कि पार्क की 1200 वर्गफीट जमीन पर भारत भूषण तिवारी ने कब्जा कर अवैध निर्माण कर लिया गया था। इसकी शिकायत मुख्य सचिव मॉनिटरिंग कमेटी में की गई। प्रशासन की टीम ने निर्माण को हटाया और पार्क की जमीन मुक्त कराई। जमीन की कीमत 50 लाख है। अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही एसडीएम सीबी प्रसाद, तहसीलदार रामनिवास सिकरबार, महेश कुशवाह, राजस्व निरीक्षक (आरआई) होतम सिंह कुशवाह, शिवदयाल शर्मा, राकेश श्रीवास्तव पटवारी केके वर्मा, पंकज भार्गव, सुनील शर्मा, रीना शर्मा, योगेश शर्मा आदि लोग उपस्थित रहें। नगरनिगम की ओर से मदालखत दस्ता, सिंचाई विभाग एवं मौके पर पुलिस बल मौजूदगी में अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही को अंजाम दिया।