घटना के बाद पूरे इलाके की घेराबंद कर सुरक्षबलों ने तलाशी अभियान चलाया…

कश्मीर में फिर आतंकियों की कायराना हरकत,

पंडित महिला को स्कूल के अंदर घुसकर मारी गोली

जम्मू कश्मीर में लगातार पंडितों को निशाना बनाया जा रहा है। कुलगाम के गोपालपुरा में एक पंडित महिला को संदिग्ध आतंकियों ने मंगलवार को गोली मार दी। शिक्षक महिला को अस्पताल में इलाज के लिए शिफ्ट किया गया, लेकिन उन्होंने वहां पर दम तोड़ दिया। इस घटना के बाद पूरे इलाके की घेराबंद की सुरक्षबलों की तरफ से तलाशी अभियान चलाया जा रहा है। कश्मीर पुलिस ने ट्वीट कर बताया कि कुलगाम के गोपालपुरा इलाके में आतंकियों ने महिला टीचर के ऊपर फायरिंग कर दी। टीचर का नाम रजनीबाल है। वह सांबा की रहनेवाली थी और उनके पति का नाम राजकुमार है। इस वक्त वह कुलाम के चवलगाम में थी और गोपालपुरा में उनकी ड्यूटी चल रही थी। 

पुलिस ने कहा कि जो भी आतंकी इस जघन्य अपराध में शामिल थे उनकी जल्द पहचान कर उनका खात्मा कर दिया जाएगा। इधर, इस घटना पर राजनेताओं की भी प्रतिक्रियाएं आ रही हैं। नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता उमर अब्दुल्ला ने कहा कि दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम में एक और प्रवामी सरकारी महिला टीचर के ऊपर हमला किया गया। उन्होंने आगे कहा कि रिपोर्ट है कि उनकी स्थिति खराब है। दुआ करता हूं कि वे इस हमले से बच जाएं। जम्मू-कश्मीर के अवंतीपोरा में सुरक्षाबलों को फिर से बड़ी कामयाबी मिली है। अवंतीपोरा में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षाबलों ने 2 आतंकवादियों को मार गिराया है। कश्मीर जोन पुलिस ने बताया कि एनकाउंटर में दो आतंकवादी ढेर कर दिए गए हैं। मारे गए आतंकवादियों के पास से हथियार भी बरामद किए गए हैं। 

जानकारी के मुताबिक दक्षिण कश्मीर के अवंतीपोरा में आतंकवादियों ने सुरक्षाबलों पर फायरिंग की, जिसके बाद जवानों ने मुंहतोड़ जवाब दिया। सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ के दौरान दो दहशतगर्दों को मार गिराया। आतंकवादियों की पहचान त्राल निवासी शाहिद राथर और शोपियां के रहनेवाला उमर यूसुफ के तौर पर की गई है। जम्मू-कश्मीर पुलिस के मुताबिक सोमवार शाम को अवंतीपोरा के राजपोरा इलाके में सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ शुरू हुई थी। ये आतंकी कई हत्याओं में शामिल था। कश्मीर के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने जानकारी देते हुए बताया कि शाहिद, अरिपाल की शकीला नाम की महिला और लुरगाम त्राल के एक सरकारी कर्मचारी जाविद अहमद की हत्या में शामिल था।