परिवहन मंत्री, परिवहन आयुक्त के खिलाफ 13 लोगों को भेजी भ्रष्टाचार की शिकायतें…

ग्वालियर के परिवहन विभाग में झूठी शिकायतों का खेल !

ग्वालियर। ग्वालियर के परिवहन विभाग में झूठी शिकायतों का खेल भी चल रहा है। शहर के एक समाजसेवी के नाम से किसी ने परिवहन मंत्री, परिवहन आयुक्त के खिलाफ भ्रष्टाचार की शिकायतें मुख्यमंत्री, केन्द्रीय मंत्री सिंधिया, महानिदेशक लोकायुक्त, सीबीआई, रजिस्ट्रार हाईकोर्ट, भाजपा के संगठन मंत्री सहित 9 लोगों को भेजी है। जिसके नाम से यह शिकायतें स्पीड पोस्ट की गई हैं उसे पता भी नहीं है। जब उसके मोबाइल मैसेज आए तो पूरे मामले का खुलासा हुआ। कुल 9 शिकायतें की गई हैं। सभी शिकायतों में उपचुनाव के दौरान करोड़ों रुपए की वसूली और भ्रष्टाचार का उल्लेख किया गया है। 

जिस युवक के नाम से फेक शिकायतें की जा रही हैं। उसने एसएसपी ग्वालियर अमित सांघी को मामले की शिकायत की है। जिस पर CRIME BRANCH थाना में मामला दर्ज कर लिया गया है। अब इन शिकायतों को करने के पीछे किसी का क्या मकसद है यह पुलिस पता लगा रही है। ग्वालियर के सिंधिया नगर निवासी 44 वर्षीय धर्मवीर कुशवाह पुत्र मूलचंद कुशवाह समाजसेवी हैं। साथ ही एक सामाचार पत्र का भी संचालन करते हैं। चार अप्रैल की रात सवा दस बजे उनके मोबाइल पर स्पीड पोस्ट बुक करने के 9 मैसेज आए। मैसेज देखकर वह दंग रह गए, जबकि उनके द्वारा कोई भी स्पीड पोस्ट बुक नहीं की गई है। 

जिस पर धर्मवीर ने तत्काल आर्टीकल नंबर लेकर सर्च किया तो पता लगा कि यह MBC काउंटर स्टेशन से बुक की गई हैं। इसके बाद वह खुद स्टेशन पहुंचे और बताया कि उनके पास मैसेज आए हैं जबकि यह स्पीड पोस्ट उन्होंने नहीं की है। अगले दिन 5 अप्रैल को उन्होंने आवेदन देकर सभी स्पीड पोस्ट को रिकॉल कराया। जिस पर 7 अप्रैल को धर्मवीर के घर के पते पर 6 स्पीड पोस्ट रुकवाकर पहुंच गईं, लेकिन तीन पोस्ट हो गई थीं। जब उन लिफाफों को खोलकर देखा तो अंदर चौकाने वाला सच था। उनके नाम से किसी ने परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, परिवहन आयुक्त मुकेश जैन के खिलाफ भ्रष्टाचार की कुछ शिकायतें की थीं, जबकि धर्मवीर का कहना है कि उनका इन शिकायतों से कोई लेना देना नहीं है।