सैकड़ा से ज्यादा जवान रहेंगे तैनात, संवेदनशील रूट से नहीं निकलेंगे जुलूस…

हनुमान जन्मोत्सव के अवसर पर शहर में जगह-जगह निकलेंगे जुलूस व चल समारोह

दो साल से कोविड संक्रमण के चलते हर त्यौहार पर बंदिशें रहती थीं, लेकिन अब ऐसा मौका आया है कि जब कोविड की सारी बंदिशें खत्म कर दी गई हैं। यही कारण है कि शनिवार को शहर में हनुमान जन्मोत्सव के अवसर पर शहर में जगह-जगह जुलूस, चल समारोह निकलेंगे। हाल ही में रामनवमीं पर जुलूस के दौरान खरगोन में उपद्रव को लेकर पुलिस, प्रशासन अलर्ट मोड़ पर है, क्योंकि 9 साल पहले शहर के आपागंज इलाके में कुछ इस तरह का उपद्रव हो चुका है। शहर में किसी भी तरह माहौल को नहीं बिगड़ने देने के लिए प्रशासन और पुलिस कमर कस चुके हैं। शनिवार को शहर में 500 अतिरिक्त जवान लगाए गए हैं। बड़े जुलूस या चल समारोह की निगरानी ड्रोन कैमरे से होगी। पुलिस के जवान वर्दी और सिविल ड्रेस में चल समारोह के साथ रहेंगे। संवेदनशील इलाकों से किसी भी चल समारोह को निकलने की इजाजत नहीं दी गई है। 

हर प्रमुख चौराहे पर फिक्स पिकेड लगाए जा रहे हैं। एसएसपी अमित साघी ने बताया कि हनुमान जन्मोत्सव पर भक्तों को किसी प्रकार की परेशानी ना आए, इसके लिए थाना पुलिस के साथ ही अतिरिक्त पांच सैकड़ा पुलिस जवानों को लगाया जा रहा है। जिससे भक्तों को कोई परेशानी ना हो। करीब 9 साल पहले 2013 में हनुमान जन्मोत्सव पर आयोजित आरती के दौरान तारागंज हनुमान मंदिर से आपागंज में जुलूस निकालने के दौरान साम्प्रदायिक हिंसा हुई थी। छतों से पथराव के बाद गोलियां भी चलीं थी। जिससे वहां हालात बहुत ज्यादा खराब हो गए थे। उस समय वहां पर तनाव की स्थिति बनी थी। इसे देखते हुए भी अफसर अलर्ट मोड पर है। ग्वालियर शहर के हनुमान मंदिरों को दुल्हन की तरह सजाया गया है। मंदिरों में छप्पन भोग बनकर तैयार हो चुके हैं। 

शनिवार को हनुमान जन्मोत्सव पर शहर के सभी हनुमान मंदिरों में धार्मिक कार्यक्रम हो रहे हैं। शहर के छञी बाजार स्थित रोकड़िया सरकार मंदिर पर धार्मिक हो रहा है।, जिसमें कई कलाकार प्रस्तुति देंगे। खेड़ापति हनुमान मंदिर, मंशापूर्ण हनुमान मंदिर, संकटमोचन हनुमान मंदिर, गरगज के हनुमान मंदिर में भक्त सुबह से ही हनुमान चालीसा और बजरंग बाण रामधुन सुनाई दे रही है। संगीत को समर्पित शहर की प्रतिष्ठित संस्थान रामायन की मासिक संगीत सभा इस बार हनुमान जयंती के अवसर पर शनिवार को लक्ष्मीबाई कॉलोनी स्थित सिद्धपीठ श्रीगंगादास की बड़ी शाला में शाम 6 बजे से आयोजित की जा रही है। रामायन के सचिव पं. रामबाबू कटारे ने बताया है कि सभा की अध्यक्षता रामायन के अध्यक्ष एवं सिद्धपीठ श्रीगंगादास की बड़ी शाला के महंत पूरन बैराठी पीठाधीश्वर स्वामी रामसेवक दासजी महाराज करेंगे। सभा में तीन सांगीतिक प्रस्तुतियां होंगी। प

हली प्रस्तुति में मुरैना की प्रियंका शर्मा का गायन होगा। उनके साथ हारमोनियम पर संजय देवले एवं तबले पर अविनाश महाजनी संगत करेंगे। दूसरी प्रस्तुति में ग्वालियर के अरुण धर्माधिकारी का एकल तबला वादन होगा उनके साथ मजीद खान सारंगी पर लहरा देंगे। सभा का समापन झांसी के समीर भालेराव के खयाल गायन से होगा। उनके साथ तबले पर डॉ. विनय विदे एवं हारमोनियम पर पमहेशदत पांडे संगत करेंगे। घाटीगांव संकट मोचन हनुमान बालाजी मंदिर गोलबडा पर बालाजी सरकार का जन्मोत्सव धूमधाम और भव्य रूप से मनाया जा रहा है। यहां 3 दिन विभिन्न कार्यक्रम होंगे। शुक्रवार सुबह मंदिर में अखंड रामायण पाठ का शुभारंभ हुआ। शनिवार को विशाल चल समारोह निकाला जाएगा और 17 अप्रैल को विशाल भंडारे का आयोजन होगा।