रिकवरी के एक मामले को बाहर ही निपटाने के एवज में मांगे थी 10 लाख रुपये…

व्यारपारी से रिश्वहत लेता हुआ जीएसटी अधिकारी रंगेहाथों गिरफ्तार

भोपाल। एक करोड़ रुपये की जीएसटी रिकवरी का बाहर समझौता करने के नाम पर दस लाख रुपये की रिश्वत मांगने वाले एक जीएसटी अधिकारी को रंगेहाथों गिरफ्तार किया गया है, जबकि दूसरा अधिकारी हाथ नहीं लगा। दो अधिकारियों द्वारा रिश्वत मांगे जाने की शिकायत पर सीबीआइ और जीएसटी सतर्कता शाखा की टीम ने संयुक्त रूप से यह कार्रवाई की है। केंद्रीय जीएसटी कार्यालय ने एक व्यापारी पर एक करोड़ रुपये की रिकवरी निकाली थी। 

व्यापारी पर निकाली गई एक करोड़ रुपये की रिकवरी के लिए जीएसटी के दो अधिकारी सक्रिय हुए थे। उन्होंने मामला खत्म करने के लिए दस लाख रुपये मांगे थे। व्यापारी ने इसकी शिकायत सीबीआइ से की थी। सीबीआइ ने आरोपित जीएसटी अधिकारियों को रंगेहाथ पकड़ने की योजना बनाई। व्यापारी जब रिश्वत की राशि अधिकारी को दे रहा था, उसी समय सीबीआई की टीम ने छापा मारा।