विशेष अनुष्ठान में सभी दिव्यांग युवा, साधु संत होंगे शामिल…

गंगादास की बड़ी शाला में धूमधाम से मनेगा नवरात्रि एवं श्रीरामनवमी महोत्सव

ग्वालियर। देश दुनिया का प्रतिष्ठित ऐतिहासिक एवं धार्मिक स्थल सिद्धपीठ गंगादास की बड़ी शाला में इस वर्ष श्रीरामनाम अखण्ड संकीर्तन की वर्षगांठ, नवरात्रि महोत्सव एवं श्रीराम नवमी महोत्सव श्रद्धा भक्ति एवं धूमधाम से मनाए जाएंगे। पिछले दो वर्षों में कोरोना महामारी से सारा जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया था। धार्मिक, सामाजिक और सांस्कृतिक गतिविधियां ठप्प हो गई थी। 

सिद्धपीठ गंगादास की बड़ी शाला भी इससे अछूती नहीं रही।अब 2 अप्रैल गुड़ी पड़वा को इस अनुष्ठान को एक वर्ष पूर्ण हो रहा है। ऐसे में विशेष अनुष्ठान होगा, जिसमें सभी दिव्यांग युवा, साधु संत शामिल होंगे। घट स्थापना के साथ मां दुर्गा का अभिषेक किया जाएगा। इसके साथ ही अखण्ड ज्योति प्रज्जवलित की जाएगी। नवसंवत्सर पर पंचाग पूजन भी किया जाएगा। 

नवरात्रि में पूरे नौ दिन तक विशेष पूजन अनुष्ठान चलेंगे। इस दौरान जवारे भी बोये जाएंगे। अष्टमी पर हवन के साथ पूजन होगा। नवरात्रि में दिव्यांग बच्चों दुर्गा चालीसा, दुर्गा शप्तशती का पाठ करेंगे। हनुमान चालीसा का पाठ भी प्रतिदिन होगा। एक दिन माता का जागरण होगा। जबकि 5 अप्रेल को श्याम मण्डल द्वारा खाटू श्याम की भजन संध्या आयोजित की जाएगी। नवमी पर भगवान श्रीराम का जन्मोत्सव धूमधाम से मनाया गया।