ओरछा में धूमधाम से मना श्रीराम जन्मोत्सव...

रामनवमी पर 5 लाख दीयों से जगमगाई रामराजा सरकार की नगरी

मध्यप्रदेश की धार्मिक नगरी और बुंदेलखंड की अयोध्या यानि ओरछा में रामनवमी पर दीपावली जैसा नजारा देखने को मिला। यहां भगवान श्रीराम के जन्म महोत्सव को लेकर रविवार शाम 7.30 बजे 5 लाख दीपक जलाए गए। सिर्फ 10 मिनट में 4500 वॉलंटियर्स ने इन दीयों को जलाया। 6 जगह दीये जलाए गए। कार्यक्रम में शामिल होने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, पर्यटन मंत्री उषा ठाकुर, निवाड़ी जिले के प्रभारी मंत्री गोपाल भार्गव भी पहुंचे। यहां मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और उनकी पत्नी साधना सिंह ने कंचना घाट पर महाआरती की। 

भगवान के जन्म महोत्सव को लेकर नगर व मंदिर को आकर्षक रंगीन रोशनी से सजाया गया है। सैकड़ों श्रद्धालु एक दिन पहले ही ओरछा पहुंच गए। रविवार सुबह 8.30 बजे कुश नगर प्रथम दरवाजे से रामराजा सरकार की शोभायात्रा निकाली गई। इसमें रामराजा सरकार महारानी कुंअरि गणेश की गोद में विराजमान होकर निकले। भगवान श्रीराम, लक्ष्मण, भरत, शत्रुघ्न और माता सीता की सजीव झांकी भी रही। ढोल-ताशे, नगाड़ों के साथ शोभायात्रा दोपहर 12 बजे रामराजा मंदिर पहुंची। यहां पर हजारों श्रद्धालुओं ने भगवान श्रीराम के दर्शन किए। दोपहर 12.30 बजे की महाआरती के बाद भगवान श्रीराम का जन्म हुआ। इसके बाद पवन तिवारी और बृजेश त्रिपाठी ने बधाई गीत गाएं। 

प्रसाद वितरण के साथ-साथ सभी को बधाई दी गई। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शाम 5 बजे ओरछा पहुंचेंगे। वे यहां विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे। ओरछा की महारानी कुंअरि गणेश 9 माह पैदल चलकर रामराजा सरकार को अयोध्या से ओरछा लाई थी। इसीलिए ओरछा नगर में रामनवमीं पर निकलने वाली भगवान की शोभायात्रा की अगवानी के लिए 9 प्रवेश द्वारों पर पुष्प वर्षा की जाती है। शोभायात्रा में पूरे बुंदेलखंड क्षेत्र के साथ ही मप्र व उत्तरप्रदेश के कई जिलों के श्रद्धालु भी आएंगे।