कांग्रेस अध्यक्ष के पद पर ताजपोशी के बाद…

अब मध्यप्रदेश कांग्रेस में भी जल्द हो सकता है फेरबदल !

 

कांग्रेस अध्यक्ष के पद पर ताजपोशी से स्पष्ट हो गया है कि अब जल्द ही मध्यप्रदेश कांग्रेस में भी फेरबदल हो सकता है। इसके अलावा प्रदेश के कई जिलों में भी कांग्रेस की कमान अब नये हाथों में होगी। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव वेणुगोपाल अब कांग्रेस को फिर से ताकतवर बनाने के लिये प्रयास की दमदार वापसी हो। सूत्रों के मुताबिक हालांकि प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ अभी महिला कांग्रेस अध्यक्ष अर्चना जायसवाल की जगह नया बदलाव करने के फेर में नहीं थे, लेकिन मध्यप्रदेश के प्रभारी राष्ट्रीय महासचिव के सी वेणुगोपाल का स्पष्ट कहना था कि अब बदलाव जरूरी है, आखिर कब तक कांग्रेस पुराने ढर्रे पर चलती रहेगी।

इसी के चलते उन्होने प्रदेश महिला कांग्रेस अध्यक्ष पद पर भोपाल की दमदार कांग्रेस नेत्री विभा पटेल की ताजपोशी कर यह संदेश दिया है कि अब कांग्रेस में धींगामस्ती नहीं चलेगी। अब ऐसी संभावना है कि जल्द ही मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी में भी प्रदेश स्तर पर व्यापक बदलाव होगा। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भले ही कमलनाथ बने रहेंगे लेकिन उनकी पूरी टीम बदली जा सकती है। इसके लिये प्रभारी महासचिव वेणुगोपाल और कमलनाथ आपस में बैठकर नई टीम के नाम फाइनल करेंगे। पुराने निष्क्रिय चेहरों की प्रदेश पदाधिकारी सूची से छुटटी की जायेगी। उनके कार्यकारी अध्यक्ष जायेंगे। पूर्व बनाये गये कार्यकारी अध्यक्ष घर बिठाये जा सकते हैं। इसमें भिंड के एक कांगे्रस नेता को भी स्थान मिलने की संभावना है। कुल मिलाकर अब बूढी कांग्रेस में नई जान फूंकने की तैयारी चल रही है।

प्रभारी महासचिव का प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष को स्पष्ट इशारा है कि नये और सक्रिय चेहरों को पार्टी पदाधिकारी बनाये। चाहे प्रदेश का मामला हो या जिलों का। अब कांग्रेस में नाम के पदाधिकारी नहीं चलेंगे। अभी प्रदेश में दो सकैडा से भी अधिक कांग्रेस प्रदेश पदाधिकारी बन गये हैं, जब कभी कांग्रेस पार्टी का कार्यक्रम हो तो यह पदाधिकारी शामिल तक नहीं होते हैं। अब इसी के साथ जिलों में भी फेरबदल किये जाने की तैयारी चल रही है। ग्वालियर सहित प्रदेश के एक दर्जन जिलों में अध्यक्ष बदलने की तैयारी चल रही है। ऐसी संभावना है कि मार्च के अंत तक कई जिलों में कांग्रेस के जिलाध्यक्ष के रूप में नये चेहरे कार्यकर्ताओं के सामने सकते हैं।