संभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक सम्पन्न…

CM हैल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण में उल्लेखनीय कार्य करने वालों को किया जाएगा पुरस्कृत : संभागायुक्त

 

ग्वालियर। सीएम हैल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण में श्रेष्ठ कार्य करने वाले अधिकारियों को सम्मानित किया जाएगा। इसके साथ ही प्रकरणों के निराकरण में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई भी की जायेगी। संभागीय आयुक्त आशीष सक्सेना ने संभागीय अधिकारियों की समीक्षा बैठक में यह बात कही है। संयुक्त राजस्व भवन के सभागार में आयोजित बैठक में सभी विभागों के संभागीय अधिकारियों की उपस्थिति में संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना ने कहा है कि ग्वालियर-चंबल संभाग में सीएम हैल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण में उत्कृष्ट कार्य करने वाले संभाग स्तरीय एवं जिला स्तरीय अधिकारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित करने का कार्य किया जायेगा। उन्होंने यह भी कहा है कि प्रत्येक माह की 22 तारीख को श्रेष्ठ कार्य करने वाले अधिकारियों को सम्मानित किया जायेगा।

जिला स्तर के तीन पुरस्कार एवं संभाग स्तर के तीन पुरस्कार प्रदान किए जायेंगे। संभागीय आयुक्त आशीष सक्सेना ने बैठक में यह भी निर्देश दिए हैं कि सीएम हैल्पलाइन के प्रकरणों का निराकरण एल-1 स्तर पर ही किया जाए। एल-3 स्तर के अधिकारी इसकी निरंतर मॉनीटरिंग करें और एल-1 पर ही प्रकरणों का निराकरण हो, यह भी सुनिश्चित करें। सीएम हैल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई भी संभागीय अधिकारी करें। संभाग आयुक्त ने सभी संभागीय अधिकारियों से कहा है कि वे अपने-अपने ऑफिस में -ऑफिस की व्यवस्था प्रारंभ करें। संभागीय अधिकारी स्वयं एवं एक अपने अधीनस्थ को -ऑफिस से जोड़ें। आवश्यकता हो तो प्रशिक्षण भी प्राप्त करें। उन्होंने स्पष्ट कहा है कि अब संभागीय अधिकारियों के अवकाश के आवेदन भी केवल -ऑफिस के माध्यम से स्वीकार किए जायेंगे।

ऑफलाइन कोई भी आवेदन स्वीकार्य योग्य नहीं माना जायेगा। संभागीय आयुक्त ने अंकुर अभियान की समीक्षा के दौरान कहा है कि गुना जिले को छोड़कर शेष सभी जिलों की उपलब्धि संतोषजनक नहीं है सभी अधिकारी अपने-अपने विभाग में अभियान चलाकर एक कर्मचारीएक पौधा लगाने का कार्य करें। उन्होंने कहा कि सभी विभाग के अधिकारी अपने अधीनस्थों के माध्यम से एक-एक पौधा लगाएँ उसका पंजीयन करें और उसको साइट पर लोड भी करें। शिक्षा विभाग, स्वास्थ्य, महिला बाल विकास विभाग सहित सभी विभाग अपने मैदानी अमले को अंकुर अभियान के तहत पौधा लगाने के लिये निर्देशित करें। पाँच मार्च तक प्रत्येक विभाग पौधा रोपण कर अपनी रिपोर्ट प्रस्तुत करें।

संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना ने कहा है कि संभागीय अधिकारी अपने-अपने विभाग में किए गए उल्लेखनीय कार्य और उल्लेखनीय अधिकारियों कर्मचारियों पर केन्द्रित एक प्रजेण्टेशन तैयार करें। प्रजेण्टेशन के साथ एक वीडियो भी सभी अधिकारी तैयार करें। प्रत्येक सप्ताह तीन-चार विभाग अपने-अपने विभाग का बैठक में प्रजेण्टेशन भी प्रस्तुत करेंगे। आगामी बैठक में हॉर्टिकल्चर, ग्रामीण विकास, कृषि और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को प्रजेण्टेशन प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिए हैं। संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना ने बैठक में अधिकारियों से कहा है कि एमपी ऑनलाइन कियोस्क सेंटर के माध्यम से भी शासकीय योजनाओं के आवेदन ऑनलाइन भरवाने के लिये कियोस्क सेंटरों को अधिकृत किया जाए। सभी विभाग अपने-अपने विभाग की ऐसी योजनायें जिनमें ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है, उसकी जानकारी आयुक्त कार्यालय को उपलब्ध कराएँ।