राज्य मंत्री ने कलेक्टर एवं नगर निगम कमिश्नर की मौजूदगी में ली अहम बैठक

पेयजल समस्या के समाधान के लिए विशेष कार्ययोजना बनाएँ : श्री कुशवाह

 

ग्वालियर। ग्वालियर में जुड़े नए वार्डों (वार्ड-61 से 66) एवं छावनी क्षेत्र मुरार के सभी वार्डों की हर बस्ती की पेयजल समस्या के स्थायी समाधान के लिए अमृत-2 के तहत विस्तृत कार्ययोजना बनाएं। साथ ही उन वार्डों में अन्य बुनियादी सुविधाओं का भी विस्तार करें। यह बात उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) भारत सिंह कुशवाह ने विकास कार्यों की समीक्षा बैठक में कही। उन्होंने कहा ग्रीष्म ऋतु के दौरान शहर के नए वार्डों व छावनी क्षेत्र में पानी की किल्लत नहीं होना चाहिए। इसके लिये अभी से वैकल्पिक इंतजाम किए जाएँ। रविवार को यहाँ व्हीआईपी सर्किट हाउस मुरार में आयोजित हुई बैठक में कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह, नगर निगम आयुक्त किशोर कान्याल, एसडीएम ग्वालियर सिटी प्रदीप सिंह तोमर तथा नगर निगम व अन्य संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार श्री कुशवाह ने बैठक में यह भी कहा कि प्रदेश सरकार ने नए बजट में शहरी क्षेत्र की बस्तियों में बुनियादी सुविधाओं के विस्तार के लिए पर्याप्त धनराशि का प्रावधान किया है। इसलिए बेहतर कार्ययोजना बनाकर इस बजट का लाभ उठाएं और शहर के नए वार्डों व छावनी क्षेत्र की बसाहटों में  बुनियादी सुविधाएँ सुदृढ करें। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने नगर निगम के अधिकारियों को जल्द से जल्द इन वार्डों के विकास की कार्ययोजना तैयार करने के निर्देश दिए। नगर निगम आयुक्त श्री कन्याल ने कहा अमृत-2 की कार्ययोजना में शहर के नए वार्डों के भी पेयजल व सीवर संबंधी कार्य शामिल किए गए हैं।