पकड़ी गई गैंग 1990 से कर रही है नकबजनी की घटनाएं…

पुलिस ने अन्तर्राज्जीय शातिर नकबजनों को लाखों की चोरी के माल सहित किया गिरफ्तार

ग्वालियर। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ग्वालियर अमित सांघी के निर्देश पर ग्वालियर जिले में चोरों, लुटेरों, नकबजनों तथा आदतन अपराधियों के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही की जा रही है। एसएसपी ग्वालियर को जरिए मुखबिर सूचना प्राप्त हुई कि विगत दिनों थाना मुरार, विष्वविद्यालय एवं थाटीपुर क्षेत्र में हुई चोरियों में संलिप्त अन्तर्राज्यीय शातिर नकबजनों की गैंग दिल्ली की रहने वाली है जिसके द्वारा कार पर फर्जी नम्बर प्लेट लगाकर ग्वालियर शहर में नकबजनी की घटनाआंे को अंजाम दिया गया है। उक्त सूचना पर एसएसपी ग्वालियर द्वारा अति. पुलिस अधीक्षक शहर (पूर्व/अपराध) राजेश डण्डोतिया को क्राईम ब्रांच व थाना बल की संयुक्त टीम गठित कर उक्त नकबजनों की पतारसी हेतु लगाया गया। 

वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशों के परिपालन में सीएसपी मुरार रत्नेश तोमर एवं डीएसपी अपराध नागेन्द्र सिंह सिकरवार के मार्गदर्शन में नकबजनी के आरोपियों की पतारसी हेतु क्राईम ब्रांच व थाना मुरार की टीम को लगाया गया। अति. पुलिस अधीक्षक शहर (पूर्व/अपराध) के मार्गदर्शन में सीएसपी मुरार रत्नेश तोमर एवं थाना प्रभारी क्राईम ब्रांच निरी. दामोदर गुप्ता तथा थाना मुरार की छः टीमें बनाकर दिल्ली रवाना की गई थी। दिनांक 19.03.2022 को पुलिस टीमों द्वारा तकनीकी साक्ष्यों की मदद से नकबजनी की घटनाओं को अंजाम देने वाले अन्तर्राज्यीय गिरोह को दिल्ली में धरदबोच लिया गया। 

पुलिस टीम द्वारा ग्वालियर शहर में हुई नकबजनी की घटनाओं में संलिप्त मास्टर माइण्ड सहित पांचों शातिर नकबजनों को पकड़कर पूछताछ की गई तो उनके द्वारा दिनांक 05.03.2022 को थाना विष्वविद्यालय क्षेत्रान्तर्गत आर्किड ग्रीन, न्यू सिटी सेंटर स्थित मकान से सोने के जेवरात, दिनांक 14.03.2022 को थाना थाटीपुर क्षेत्रान्तर्गत एमके प्लाजा, न्यू शिवाजी नगर स्थित मकान से भी सोने-चॉंदी के जेवरात व अन्य सामान की चोरी करना स्वीकार किया गया। इनके द्वारा थाना थाटीपुर क्षेत्र में दो अन्य स्थानों पर चोरी का प्रयास करना भी स्वीकार किया। नकबजनों ने पुलिस टीम को बताया कि उन्होने दिनांक 14.03.2022 को थाना मुरार क्षेत्रार्न्तगत सांई काका अपार्टमेंट रिवर व्यू कालोनी के दो घरों से चोरी की थी। 

जिसमें एक घर से नगदी तथा दूसरे घर से सोने-चॉंदी के जेवरात तथा नगद 13 लाख से अधिक रूपये चोरी करना स्वीकार किया। पूछताछ में शातिर नकबजन गिरोह के पास से पुलिस टीम द्वारा 08 तोला सोने, 700 ग्राम चॉंदी के जेवरात, 75 हजार रूपये नगद बरामद किये जाकर घटना में प्रयुक्त कार तथा लॉक तोड़ने वाले औजारों को भी विधिवत जप्त किया गया है। नकबजनों से उक्त चोरी की बारदातों के संबंध में पूछताछ करने पर उन्होने बताया कि वह अपनी कार से दिल्ली से ग्वालियर आये थे। मुरैना टोल निकलने के बाद हम लोगों ने कार पर से दिल्ली की नम्बर प्लेट हटाकर उस पर ग्वालियर की फर्जी नम्बर प्लेट एमपी07-पीए-2050 लगा ली थी। इसके बाद हम लोगों ने ग्वालियर शहर के विभिन्न इलाकों में नकबजनी की घटनाओं को अंजाम दिया था। 

उसके बाद हम लोग उसी कार से वापस दिल्ली की ओर निकल गये तथा मुरैना टोल निकलने के बाद हम लोगों ने पुनः अपनी कार पर दिल्ली की नम्बर प्लेट लगा ली थी। उक्त गिरोह के संबंध में और अधिक जानकारी प्राप्त करने पर ज्ञात हुआ कि यह अन्तर्राज्यीय गिरोह वर्ष 1990 से लगातार चोरी व नकबजनी की बारदातों में सक्रिय है और फर्जी नम्बर प्लेट लगाकर नकबजनी की घटनाओं को अंजाम देता है। इनके द्वारा उत्तर प्रदेष व उसकी सीमा से लगे हुए जिलों तथा मध्यप्रदेष में नकबजनी की घटनाओं को अंजाम दिया गया है। उक्त नकबजनों की तलाषी लेने पर उनके एक साथी के पास से फर्जी आईडी कार्ड भी मिला, जो दिल्ली सीआईडी पुलिस का है। उक्त नकबजनों द्वारा इसी आईडी कार्ड को दिखाकर मुरैना टोल को क्रॉस किया गया था। 

नकबजनों से अभी तक की गई पूछताछ में उनके द्वारा ग्वालियर शहर में की गई छः चोरियों का खुलासा हुआ है। पुलिस टीम द्वारा पकड़े गये अन्तर्राज्यीय नकबजनी गिरोह के तीन सदस्यों पर दर्जनों आपराधिक प्रकरण पंजीबद्व हैं, जिसमें एक पर 19, दूसरे पर 06 तथा तीसरे सदस्य पर 4 प्रकरण पंजीबद्व हैं अन्य के संबंध में भी जानकारी प्राप्त की जा रही है। पुलिस टीम द्वारा उक्त नकबजनों के गिरोह से जिले में हुई अन्य नकबजनी व चोरी की बारदातों तथा उक्त नकबजनी की घटनाओं में चोरी गये शेष सामान के संबंध में पूछताछ की जा रही है। पकड़े गये अन्तर्राज्यीय गिरोह से ग्वालियर व आसपास के जिलों में हुई चोरी व नकबजनी की अन्य घटनाओं का खुलासा होने की संभावना है।