शिक्षक लोग ही समाज का परिवर्तन करेंगे…

सफलता का आधार मूल्य आधारित जीवन : बी.के.प्रहलाद

ग्वालियर। मजदूर सेवार्थ पाठशाला की सिकंदर कंपू इकाई द्वारा मूल्य आधारित शिक्षा पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में प्रजापिता ब्रह्माकुमारीज़ ईश्वरीय विश्व विद्यालय लश्कर से मोटिवेशनल स्पीकर बी.के.प्रहलाद भाई को आमंत्रित किया गया। इस कार्यक्रम में 70 से भी अधिक बच्चों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम में  बी.के.प्रहलाद भाई ने सभी उपस्थित बच्चों को मूल्य आधारित जीवन आज कितना महत्वपूर्ण है उसकी जानकारी देते हुए बताया कि शिक्षक लोग ही समाज का परिवर्तन करेंगे। नैतिक मूल्य सफल जीवन का आधार है तथा नैतिक शिक्षा एवं मूल्यों को अपने जीवन में धारण करने से हमारा व्यव्हार, हमारे विचार सब श्रेष्ठ बन जाते हैं। आज हम सभी लोग शिक्षा तो ले रहे हैं। लेकिन नैतिक मूल्य एवं संस्कार के बिना कही ना कही यह शिक्षा आधूरी है तो मूल्य आधारित शिक्षा आज अपने निजी जीवन में बहुत कम लोग ही धारण कर रहे हैं। मूल्य आधारित जीवन जीने वाले का व्यक्ति का व्यक्तित्व ही अलग होता है –

  • 1- वह अपने माता-पिता, शिक्षक सम्मान करेंगे एवं उनकी आज्ञा का पालन करेंगे।
  • 2- बुरे संग से दूर रहेंगे।

  • 3- व्यर्थ में समय ना गवां कर अपने लक्ष्य के प्रति एकाग्र होंगे।
  • 4- सभी के प्रति अच्छी भावना रखेंगे।
  • 5- उनके अंदर देश प्रेम की भावना होगी।
  • 6- वह सभी का आदर सम्मान करेंगे, आदि आदि।

तत्पश्चात आगे बताया कि हमें अपना हर एक कार्य सकारात्मक चिंतन के साथ करना चाहिए क्योकि चिंतन का जीवन पर बहुत गहरा प्रभाव पड़ता है फिर वह चिंतन कैसी भी हो तो अगर हम  हर एक कार्य को ईमानदारी एवं अच्छे चिंतन के साथ करेंगे तो उसका परिणाम भी सकारात्मक होगा। आज ज़रूरत है अपने जीवन को बदलने की, अपने जीवन में अनुशासन को अपनाने की क्योकि यही अवसर है श्रेष्ठ बनने का, श्रेष्ठ करने का और समाज को कुछ श्रेष्ठ देने का। तो हमारा जीवन नैतिकता एवं आध्यात्मिकता से भरा हुआ होगा तो दूसरों पर भी इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा और वह भी अपने जीवन को सही दिशा में ले जाने के लिए प्रेरित होंगे। इसके साथ ही उन्होंने  सभी को मैडिटेशन की अनुभूति भी कराई। 

कार्यक्रम के अंत में सभी ने पर्यावरण को स्वच्छ रखने का संकल्प भी लिया। इसके साथ ही स्वयंसेवक के रूप में  सभी बच्चों को शिक्षित कर रहे हैं राकेश बाबू पांडे (सेवानिवृत्त, प्रधानाध्यापक शासकीय माध्यमिक विद्यालय), मनोज पांडेय, नीरज राजपूत (सिकंदर कंपू), कुमारी रेनू शाक्य (बेटी बचाओ चौराहा), निशा यादव (बेटी बचाओ चौराहा) का  बी.के. प्रहलाद भाई ने आध्यात्मिक साहित्य भेंट कर सम्मानित किया। इस अवसर पर मजदूर सेवार्थ पाठशाला के संरक्षक ओ.पी.दिक्षित (सेवानिवृत्त व्याख्याता डाइट ग्वालियर), सहयोगी बहिन सोनिया सिहारे जी, भी मौजूद रहीं। कार्यक्रम का संचालन ओ.पी. दीक्षित एवं अंत मे सभी का आभार मनोज पांडेय के द्वारा किया गया।