गिनीज बुक में दर्ज हुआ रिकॉर्ड…

11 लाख से ज्यादा दीयों की रोशनी से जगमगाया उज्जैन

 

उज्जैन। महाशिवरात्रि पर बाबा महाकाल की नगरी उज्जैन में वर्ल्ड रिकॉर्ड बना है। अयोध्या में बीते साल दीए जलाकर एक रिकॉर्ड बनाया गया था। अयोध्या में 9.41 लाख दिए जलाए गए थे, जो गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज हुआ था। इस बार उज्जैन में 11,71,878 दीए जलाए गए हैं।  

उज्जैन में देर शाम 11,71,878 लाख दीपो से अवन्तिका नगरी उज्जैन जगमगा उठी। घाटों पर 13000 से अधिक वोलेंटियर्स ने दीप जलाए, उज्जैन में इस कार्यक्रम को ''शिव ज्योति अर्पणम् महोत्सव'' नाम दिया गया है। सीएम शिवराज सहित कई बड़े नेता शिव ज्योति अर्पणम आयोजन में शामिल हैं। 

 

पूरी उज्जैन नगरी में लोग घरों में और सार्वजनिक स्थानों पर भी दीपक जलाए। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उज्जैन में 11 दीपक जलाकर इस आयोजन की शुरूआत की। सीएम पत्नी साधना सिंह के साथ उज्जैन पहुंचे हुए थे। उज्जैन में शिव ज्योति अर्पणम् महोत्सव की धूम है इसके तहत 11 लाख से ज्यादा दीपक जलाए गए हैं।  

मौके पर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की 5 सदस्यीय टीम भी मौजूद थी, इस दौरान पूरे आयोजन की 5 ड्रोन से निगरानी की गई। राम घाट से लेकर भूखी माता घाट तक लोगों की भीड़ जमा है। इस अलौकिक और विहंगम नजारे को देखने के लिए सीएम शिवराज सिंह, उनकी पत्नी साधना सिंह और मंत्री मोहन यादव ने नौका बिहार भी किया। 

 

वहीं उज्जैन में विश्व रिकॉर्ड बनते ही आतिशबाजी भी की गई। जिसका नजारा देखते ही बन रहा है। बता दें कि इससे पहले अयोध्या में 9 लाख दीपक लगाए गए थे, अब उज्जैन में अयोध्या से ज्यादा यानि 11,71,878   लाख दीपकों से गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड दर्ज किया गया है, इसके लिए लिम्का वर्ड रिकॉर्ड और गिनीज वर्ड रिकॉर्ड की टीम को पहले ही बुला लिया गया था। 

सीएम शिवराज ने कहा कि आज महाशिवरात्रि पर भगवान महाकाल की नगरी दीपों की ज्योति से जगमगा रही है, उज्जैन की जनता ने अद्भुत दृश्य प्रस्तुत किया है। अनोखे तरीके से शिवभक्ति की है। मैं महाकाल महाराज से प्रार्थना करता हूं कि उज्जैन, मध्यप्रदेश, देश सम्पूर्ण विश्व पर कृपा की वर्षा करें। 

 

सीएम शिवराज ने कहा हर साल होगी दीपोत्सव वाली महाशिवरात्रि इसके लिए सभी तैयार रहे। बताया जा रहा है कि भगवान महाकाल की नगरी उज्जैन ने अयोध्या का रिकॉर्ड तोड़ा गया। बता दें कि दीपावली पर अयोध्या में 9 लाख दीपक जलाए गए थे। उस वक्त इस रिकॉर्ड भी गिनीज बुक में जगह दी गई थी।  

वहीं अब उज्जैन में महज 10 मिनट के अंदर ही 11 लाख 71 हजार 78 दीये जलाए गए, इन दीपों को 14 हजार लोगों ने जलाया। कलेक्टर आशीष सिंह ने बताया कि गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड की टीम ने इसकी घोषणा कर दी। जिसके बाद से ही उज्जैन में खुशी का माहौल है।