तपस्वी छावनी के संत परमहंस ने दी चेतावनी…

राहुल गांधी और दिग्विजय पर राष्ट्रद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग

 

तपस्वी छावनी के संत परमहंस ने राहुल गांधी और दिग्विजय सिंह पर राष्ट्रद्रोह की धाराओं में मुकदमा दर्ज करने की अयोध्या कोतवाली में तहरीर दी है। संत परमहंस ने मुकदमा दर्ज नहीं होने पर अनशन करने की चेतावनी दी है। 2 फरवरी को संसद में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर राहुल गांधी ने संबोधन में दो हिंदुस्तान का जिक्र किया था। उन्होंने कहा था कि एक गरीबों का है और एक अमीरों का हिंदुस्तान है। दूसरा मामला कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह का 7 फरवरी को लखनऊ में संघ परिवार पर की गई टिप्पणी से जुड़ा है।

दिग्विजय ने संघ परिवार पर मनुस्मृति के नाम से देश को चलाने का आरोप लगाया था। संत परमहंस का मानना है कि दोनों बयान देश को बांटने और नफरत फैलाने की साजिश का हिस्सा हैं। उनके बयान से देश में दंगे हो सकते हैं और विवाद हो सकता है। इसीलिए उन्होंने आईपीसी की धारा 124 () के तहत राष्ट्रद्रोह की धाराओं में मुकदमा दर्ज करने का प्रार्थना पत्र दिया है। दिग्विजय सिंह के बयान पर संत परमहंस ने कहा कि संघ के कार्यकर्ताओं की हत्या होने का डर है।

उन्होंने आरोप लगाया कि सोची समझी साजिश के तहत एक समुदाय विशेष को भड़काने का काम है। उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं के खिलाफ राष्ट्रदोह का मुकदमा दर्ज नहीं होने पर भूख हड़ताल, सत्याग्रह तक शुरू किया जाएगा। अयोध्या कोतवाल देवेंद्र पांडे ने कैमरे के सामने प्रार्थना पत्र लिया तो जरूर लेकिन कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया। हालांकि बातचीत में प्रार्थना पत्र पर जांच कराने की बात कही। प्राथमिकी दर्ज करने के सवाल पर उन्होंने जांच का हवाला दिया।