रेल मंत्री का बड़ा ऐलान, स्मारक की भी उठी मांग…

लता दी के सम्मान में जारी होगा डाक टिकट

 

नई दिल्ली। भारतरत्न से सम्मानित, मशहूर दिवंगत गायिका लता मंगेशकर के सम्मान में केंद्र सरकार ने डाक टिकट जारी करने का फैसला लिया है। रविवार सुबह ही उनकी मृत्यु हुई जिसके बाद देश में दो दिन के राष्ट्रीय शोक का ऐलान किया गया। केंद्रीय संचार, सूचना प्रौद्योगिकी और रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव ने सोमवार को इसका ऐलान किया कि लता मंगेशकर पर देश में डाक टिकट जारी किया जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने एक कार्यक्रम में कहा कि आने वाले समय में रेलवे की भर्ती परीक्षाएं बेहतर होंगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का सपना रेल यात्रियों के अनुभव को बेहतर बनाना है।

मशहूर गायिका लता मंगेशकर का लंबे इलाज के बाद रविवार को अस्पताल में निधन हो गया। उन्हें 8 जनवरी को कोरोना होने की वजह से मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। 28 दिन वो अस्पताल में ही रहीं। उन्होंने कोरोना और न्यूमोनिया पर विजय भी पाई थी लेकिन शरीर के कई अंगों के खराब हो जाने की वजह से आखिरकार 6 फरवरी को उनका निधन हो गया। इसके बाद केंद्र सरकार ने 2 दिन के राष्ट्रीय शोक का ऐलान किया। प्रधानमंत्री मोदी ने भी उन्हें मुंबई जाकर श्रद्धांजलि दी।

देश-विदेश के कई दिग्गजों ने लता मंगेशकर के निधन पर शोक जताया है। अब उनके सम्मान में केंद्र सरकार डाक टिकट जारी करने जा रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि देश ने अपनी आवाज खो दी है। लता मंगेशकर देश के लिए धरोहर से कम नहीं थीं। उन्हें साल 2001 में देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान भारत रत्न से नवाजा गया था। गौरतलब है कि लता मंगेशकर के फैन्स और संगीत प्रेमियों ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखकर दिवंगत मांग की है कि लता मंगेशकर का अंतिम संस्कार दादर के जिस शिवाजी पार्क में हुआ, उसी स्थान पर उनका स्मारक बनवाया जाए।