बिजली विभाग किसानों पर थोप रहा मनमाना कानून…

बिजली बिलों में धांधली के ख़िलाफ़ ऊर्जा मंत्री के बंगले पर प्रदर्शन

 

ग्वालियर। गिरवाई, अजयपुर, वीरपुर सहित महेशपुरा, बेलदारपुरा, आदि क्षेत्रों में तकरीबन पांच सौ से ज्यादा किसानों पर बिजली विभाग मनमाना कानून थोप रहा है। दरअसल किसानों को खेती सिचाई के लिए फिक्स चार्ज पर पम्प कनेक्शन दिए जाते है। लेकिन उक्त गांवो में किसानों को घरेलू बिजली कनेक्शन दे दिए गए है। इस कारण क्षेत्र के किसानों के ऊपर भारी भरकम बिजली बिल रहे है। कांग्रेस सरकार के समय क्षेत्रीय विधायक भारत सिंह कुशवाहा ने किसानों से सिचाई कनेक्शन दिलाने तथा इस मामले को विधान सभा मे उठाकर बिल माफ कराने का वायदा किया था।

सरकार बदलने औऱ क्षेत्रीय विधायक के मंत्री बन जाने पर विधायक अपना वादा भूल गए और अब किसानों के बिल ढाई लाख से पांच लाख तक पहुच गए है। बिजली विभाग किसानों की बिजली के कनेक्शन काट रहा रहा है। वसूली के लिए दबाव बनाया जा रहा है। इसके विरोध में आज वीरपुर में किसानों की बैठक हुई जिसमें मध्यप्रदेश किसान सभा के प्रदेश सचिव अखिलेश यादव एवम जनाधिकार पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष सुग्रीव कुशवाह उपस्थित हुए। बैठक में आये किसानों ने अपनी आप बीती सुनाते हुए कहा कि बिजली कट जाने से खेती खराब हो रही है। बच्चों के पेपर सर पर गए अंधेरे में कैसे पढ़ पाएंगे ? बच्चों की ज़िंदगी बर्बाद हो रही है। जबकि गलती बिजली विभाग की है जब सब जगह फ़िक्स चार्ज लिए जा रहे हैं तो फिर यहाँ क्यो नही ? बैठक में पहुचे नेताओ ने किसानों से कहा कि उनकी जायज़ मांग की लड़ाई लड़ी जाएगी।

केंद्र हो या प्रदेश की सरकार हो। ये अब किसानों के हित में ना होकर पूंजीपतियों के हित मे काम कर रही है। बैठक में इस गंभीर मुद्दे पर आंदोलन की रणनीति तैयार की गई। जिसके तहत 8 फरवरी को दोपहर 12 बजे ऊर्जा मंत्री के सरकारी बंगले पर प्रदर्शन किया जाएगा। किसान सिकंदर कम्पू चौराहे पर सुबह 11 बजे एकत्रित होकर अपने अपने वाहनों से मंत्री के बंगले पर पहुँचेंगे। बैठक में एक संघर्ष समिति का गठन किया है जिसमे अखिलेश यादव, सुग्रीव सिंह कुशवाह, रूपसिंह कुशवाह, वीरेंद्र भदौरिया, मोहनसिंह कुशवाह, परमाल कुशवाह, लाल सिंह परधिया, विजय करगैया, करन सिंह, कल्लू कुशवाह, आदि को शामिल किया गया है।