जिले के अपराध ट्रेंड के संबंध में…

पुलिस कन्ट्रोल रूम के सभागार में आईजी ने की अपराधों की समीक्षा

 

ग्वालियर पुलिस कन्ट्रोल रूम ग्वालियर के सभागार में ग्वालियर जिले की अपराध समीक्षा बैठक आहूत की गई। बैठक में आईजी ग्वालियर रेंज अनिल शर्मा और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अमित सांघी विशेष रूप से मौजूद थे। बैठक में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक गण के अलावा जिले के समस्त पुलिस राजपत्रित अधिकारीगण तथा जिले के समस्त थाना प्रभारीगण एवं यातायात के अधिकारीगण उपस्थित थे। बैठक के प्रारम्भ में आईजी ग्वालियर द्वारा उपस्थित समस्त पुलिस अधिकारियों से परिचय प्राप्त किया। तद्उपरान्त वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ग्वालियर द्वारा जिले के अपराध ट्रेंड के संबंध में आईजी ग्वालियर को अवगत कराया गया।  

साथ ही विगत वर्ष में जिन अपराध शीर्ष में अच्छी कार्यवाही की गई है उनके संबंध में जानकारी दी गई तथा अन्य शीर्ष जहां और अच्छी कार्यवाही की जा सकती है उसकी भी जानकारी आईजी ग्वालियर को दी गई। आईजी ग्वालियर ने हाल ही में ग्वालियर पुलिस द्वारा लूट की घटना का खुलासा करने के लिये शाबासी देते हुए टीम के सदस्यों को प्रशंसा पत्र देने की घोषणा की और अवैध मादक पदार्थ के खिलाफ की जा रही कार्यवाही को भी सराहा साथ ही उनके द्वारा अफीम, स्मैक, गाॅंजा की कार्यवाही में जीरो टॉलरेंस की नीति पर जोर दिया और अफीम, स्मैक, गाॅंजा बेचने वालों के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही करने हेतु थाना प्रभारियों को निर्देशित किया।

बैठक में आईजी ग्वालियर द्वारा माननीय उच्च न्यायालय के वारंटों की शत्प्रतिशत तामीली पर जोर दिया गया। उन्होने कहा कि समंस-वारंट तामीली को लेकर माननीय न्यायालय बहुत गंभीर है इसलिए समंस-वारंट तामीली में कोताही बरती जाए और तामीली के यथासंभव प्रयास किये जाए। बैठक में पुलिस महानिरीक्षक ग्वालियर ने अपनी प्राथमिकताओं को जाहिर किया। उनके द्वारा कहा गया कि पुलिस की उपस्थिति शहर की सड़कों पर दिखनी चाहिए जिससे अपराधियों के मन में भय व्याप्त हो तथा पुलिस द्वारा चैकिंग अलग-अलग स्थानों पर अलग-अलग समय में की जाना चाहिए साथ ही चैकिंग के दौरान चैकिंग कर रहे अधिकारी कर्मचारियों द्वारा इस बात का भी ध्यान रखा जाए कि महिला तथा वुजुर्गों को किसी प्रकार की परेशानी हो।

इस अवसर पर आईजी ग्वालियर ने कहा कि सभी थाना प्रभारी अपने-अपने थाना क्षेत्रों में स्थित प्रतिष्ठांनों पर सीसीटीव्ही कैमरे लगवाने हेतु व्यापारियों को प्रोत्साहित करें, क्योंकि कई अपराधों के खुलासे में सीसीटीव्ही से प्राप्त साक्ष्य महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हैं। गुम बालक-बालिकाओं की दस्तायाबी हेतु समस्त थाना प्रभारी अपने-अपने थाने के प्रकरणों में विशेष रूचि लेकर अधिक से अधिक संख्या में गुम बालक-बालिकाओं की दस्तायाबी हेतु प्रभावी कार्यवाही करें। आईजी ग्वालियर ने कहा कि सभी थाना प्रभारी गुण्डों-बदमाशों, अवैध उत्खनन और मिलावटखोरों, भू-माफियाओं के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही की जाना सुनिश्चित करें। जहरीली तथा अवैध शराब बनाने एवं बैचने वालों के खिलाफ प्रभावी कार्यवाही करने हेतु थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया तथा उन्हांेने कहा कि जहरीली तथा अवैध शराब के प्रति हमारा रवैया जीरो टॉलरेंस का रहेगा।

आईजी ग्वालियर ने कहा कि शहर में यातायात व्यवस्था बेहतर हो इसके लिये थाना बल को भी यातायात पुलिस के साथ परस्पर सहयोग करना चाहिए, जिससे शहर की यातायात व्यवस्था को सुदृढ़ किया जा सके। थाना प्रभारी अपने-अपने क्षेत्र के ब्लेक स्पाॅट चिन्हित करें जहां पर आये दिन वाहन दुर्घटनाएं होती रहती है। ब्लेक स्पाॅट को चिन्हित कर संबंधित विभाग के माध्यम से सुधार किया जाए जिससे होने वाली दुर्घटनाओं में कमी सके। स्कूल/काॅलेज तथा कोचिंग संस्थान के आसपास एकत्रित होने वाले असमाजिक तत्वों के खिलाफ वैधानिक कार्यवाही की जाए तथा आमरोड एवं सार्वजनिक स्थानों पर शराब का सेवन करने वालों के खिलाफ भी प्रभावी कार्यवाही हेतु थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया।  

पुलिस महानिरीक्षक द्वारा बैठक में उपस्थित समस्त पुलिस अधिकारियों को लंबित अपराधों के कारणों की एवं अपराधों पर प्रभावी नियंत्रण रखने हेतु अधीनस्थों को यथोचित मार्गदर्शन दिया जाकर प्रभावी प्रतिवंधात्मक कार्यवाही की जाए महिलाओं पर घटित अपराधों पर विशेष सजग रहकर तत्परतापूर्वक कार्यवाही करने हेतु भी निर्देश दिये गये। चिन्हित प्रकरणों के अभियोजन की स्थिति की राजपत्रित अधिकारी द्वारा स्वयं समीक्षा कर सजायाबी सुनिश्चित कराने के प्रयास किये जाए। पूर्व में पकड़े गये अपराधियों, नकबजनों, लुटेरों का वर्तमान स्टेट्स पता कर उनके संबंध में संपूर्ण जानकारी एकत्रित कर उनकी सत्त निगरानी की जाए और आदतन अपराधियों की हिस्ट्रीशीट खोलने की कार्यवाही की जाए।