स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 के मापदंडों के अनुसार…

सार्वजनिक शौचालयों पर 3 दिनों में पूर्ण करें आवश्यक व्यवस्थाएं : निगमायुक्त

 

ग्वालियर। शहर के जितने भी सार्वजनिक एवं सामुदायिक शौचालय हैं, वहां निरीक्षण कर सुनिश्चित करें कि स्वच्छता सर्वेक्षण 2022 के मापदंडों के अनुसार सभी सुविधाएं हैं या नहीं और यदि कोई कमी है तो 3 दिवस के अंदर रैम्प, पानी, विद्युत इत्यादि सहित सभी आवश्क व्यवस्थाएं पूर्ण करें। इसके पश्चात मैं स्वयं निरीक्षण करुंगा, यदि कहीं कोई कमी पाई गई तो संबंधित अधिकारी कार्यवाही के लिए तैयार रहें। उक्ताशय के निर्देश नगर निगम आयुक्त किशोर कन्याल ने सोमवार को सार्वजनिक एवं सामुदायिक शौचालयों की व्यवस्थाओं को लेकर आयोजित बैठक में सभी संबंधित अधिकारियों को दिए।

बैठक में अपर आयुक्त अतेन्द्र सिंह गुर्जर, उपायुक्त अमर सत्य गुप्ता, अधीक्षण यंत्री जनकार्य जेपी पारा सहित सभी संबंधित अधिकारी, स्वच्छता निरीक्षक एवं डब्ल्यूएचओ उपस्थित रहे। बालभवन के सभागार में आयोजित बैठक में नगर निगम आयुक्त श्री कन्याल ने सार्वजनिक एवं सामुदायिक शौचालयों की प्रगति की समीक्षा करते हुए बताया कि स्वच्छता सर्वेक्षण में सार्वजनिक एवं सामुदायिक शौचालयों का भी बडा महत्व होता है इसलिए सभी व्यवस्थाएं चाक चौबंद हों और जो भी व्यवस्थाएं कराई जाएं वह स्थाई रुप से हों केवल अभी के लिए हों। अनेक क्षेत्राधिकारियों द्वारा बताया गया कि नल, टंकी लाइट आदि की व्यवस्था हम हर बार करते हैं लेकिन आस पास के असमाजिक तत्व उन्हें चुरा ले जाते हैं या तोड देते हैं जिसको लेकर निगमायुक्त श्री कन्याल ने बताया कि अभी 110 में सें 40 पर केयर टेकर नहीं है उसके लिए भी दो पालियों में केयर टेकर की व्यवस्था कर दी गई है।

इसके साथ ही संबंधित क्षेत्र के थाना प्रभारियों को भी इस संबंध में सूचित करें और निगरानी रखें यदि इस प्रकार से कोई पकड में आता है तो उसको तत्काल थाने में बंद कराएं। इसके साथ ही शहर के सभी व्यवसायकि क्षेत्रों में सुबह के साथ ही रात्रिकालीन सफाई भी निरंतर हो यह संबंधित क्षेत्र के स्वास्थ्य अधिकारी, एएचओ एवं डब्ल्यूएचओ सुनिश्चित करें। वहीं सभी क्षेत्रों में डोर टू डोर वाहन समय पर पंहुचे और सडकों पर, गली मोहल्लों में प्रतिदिन झाडू लगे तथा सभी अपने अपने क्षेत्र में प्रतिबंधित पॉलीथिन एवं गंदगी फैलाने वालों पर निरंतर कार्यवाही करें और हर गंदगी फैलाने वाले पर जुर्माना हो।