40 अंतरराज्यीय बसें एक साथ होंगी रवाना…

हेरिटेज थीम पर 35 एकड़ में बनेगा बस टर्मिनल

 

ग्वालियर। शहर में कई बड़े मेगा इंफ्रा प्रोजेक्ट पर काम हो रहा है और कई शुरू होने की तैयारी में है। इनमें से एक बड़ा मेगा इंफ्रा प्रोजेक्ट अंतरराज्यीय बस टर्मिनल का है जिसकी तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है। ग्वालियर स्मार्ट सिटी के द्वारा ग्वालियर मुरैना हाईवे पर स्थित ट्रिपल आईटीएम के सामने हेरिटेज लुक में अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल तैयार किया जा रहा है। लगभग 100 करोड़ की लगात वाले इस प्रोजेक्ट में 40 अंतरराज्यीय बसें एक साथ प्लेटफार्म से रवाना हो सकेगी। साथ ही 52 बसों के लिए अलग-अलग प्लेटफॉर्म बनाए जाएंगे। इसके अलावा 300 से अधिक बसों और चार पहिया वाहनों के लिए हाईटेक पार्किंग सुविधा रहेगी। स्मार्ट सिटी लगभग 35 एकड़ जमीन पर प्रस्तावित अंतरराज्यीय बस टर्मिनल का निर्माण किया जा रहा है। 

इसमें सबसे खास बात यह होगी टर्मिनल हेरीटेज थीम पर आधारित होगा और इसका निर्माण ग्रीन बिल्डिंग कॉन्सेप्ट के तहत किया जाएगा।सिर्फ ऊर्जा बचत, जल संरक्षण, प्राकृतिक प्रकाश जैसी ग्रीन घटक इसके निर्माण में अहम भूमिका निभाएंगे। स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट की सीईओ जयति सिंह ने ईटीवी भारत को बताया कि यह इस बस टर्मिनल के लिए टेंडर प्रक्रिया जल्द ही शुरू की जाएगी। इसका पूरा प्लान तैयार हो चुका है। शहर के बीचों बीच पुराना अंतरराज्यीय बस स्टैंड है, लेकिन इसमें व्यवस्थाएं ना होने के कारण बस संचालक और यात्री परेशान होते हैं। 

नया हेरिटेज अंतरराज्यीय बस टर्मिनल बनने के बाद यात्रियों को पूरी सुविधाएं मिलेगी। इस नए अंतरराज्यीय बस टर्मिनल में पूरी सुविधाओं का ध्यान रखा जाएगा। इस परियोजना में सार्वजनिक शौचालय, दिव्यांग जनों की सौगात सुगमता के लिए बाधा रहित सुव्यवस्थित आगमन होगा। इसके साथ ही बस संचालकों के लिए अलग से विश्राम कक्ष का निर्माण किया जाएगा। वहीं निजी वाहन, ऑटो और टैक्सी के लिए पिक एंड ड्रॉप इनके साथ-साथ पार्किंग व्यवस्था और पशुओं के लिए वर्कशॉप का निर्माण भी किया जाएगा।वही इस नए अंतरराज्यीय बस टर्मिनल को पूरा ग्रीन कोरिडोर से जोड़ा जाएगा, जो पूरी तरह से हरा भरा होगा। 

इसके साथ ही इस बस टर्मिनल में एक बड़ी पार्क की भी व्यवस्था की जाएगी, ताकि बसों का इंतजार करने वाली यात्री आराम से तनाव मुक्त पार्क में बैठ सकें। इस प्रस्तावित अंतरराज्यीय बस टर्मिनल के बनने के बाद शहर में बड़े वाहन और बसें आना बंद हो जाएंगी, क्योंकि वर्तमान में रेलवे स्टेशन के पास पुराना रोडवेज बस स्टैंड होने से दूसरे जिलों से आने वाली बसें यहां आती है। शहर में बसों के आने-जाने से न सिर्फ ट्रैफिक का लोड बढ़ रहा है, बल्कि दुर्घटना की आशंका भी बनी रहती है। मौजूदा मास्टर प्लान के अनुसार, बस स्टैंड को बाहर ले जाना है। ऐसे में ट्रिपल आईटीएम में सर्व सुविधा युक्त बस टर्मिनल प्रस्तावित किया गया है। इसके बनने के बाद पुराने रोडवेज बस स्टैंड को सिटी बसों के स्टैंड के रूप में विकसित किया जाएगा।