रविदास जयंती की पूर्व संध्या पर 251 लोगों को दिया रविदास सम्मान…

भारत के श्रेष्ट संत रविदास जी सच्चे कर्मयोगी थे : सांसद श्री शेजवलकर

 

ग्वालियर। ऐसा चाहूं राज मैं, जहॉ मिले सबनकांे अन्न, छोट बडों सम बसे रहे रविदास प्रसन्न उक्ताशय के विचार अनुसूचित जाति मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष लाल सिंह आर्य ने वार्ड क्रमांक 1 स्थित रामाजी का पुरा क्षेत्र में प्रतिवर्ष की भांति इस वर्ष भी संत शिरोमणि गुरु रविदास जी 645वीं जयंती की पूर्व संध्या पर रामाजी का पुरा, बीजासेन माता का मंदिर एबी रोड बहोडापुर पर कहे। इस अवसर पर पूर्व मंत्री श्री आर्य ने क्षेत्रीय जनता की मांग पर कार्यक्रम स्थल पर ही संत शिरोमणि रविदास जी की प्रतिमा लगवाने की घोषणा की तथा उन्होंने कहा कि संत शिरोमणि की आगामी जयंती पर हम सभी उनकी प्रतिमा पर ही माल्यार्पण करेगें।  

सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने संत शिरोमणि की प्रतिमा के लिये पूर्ण सहयोग का आशवासन दिया। कार्यक्रम संयोजक एवं पूर्व एमआईसी सदस्य जगत सिंह कौरव के संयोजन में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप मंे बोलते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री आर्य ने कहा कि संत शिरोमणि रविदास जी की जयंति के अवसर पर मेरे द्वारा 13 फरवरी से 20 फरवरी तक पूरे देश में जयंती मनाई जा रही है। उन्होंने कहा कि कि सामाजिक राजनैतिक जीवन में कठिनाइयां तो बहुत आती है। पंरतु अपने मार्ग से कभी विचलित नहीं होना चाहिए। हमेशा संत यही कहा करते थे। वे पूरे भारत में श्रेष्ठ संतो में त्यागी संत कहलाये। उनका कहना था मन चंगा तो कटोती में गंगाा।

इस अवसर पर सांसद विवेक नारायण शेजवलकर ने कहा कि संत शिरोमणि रविदास जी के बताये रास्ते पर चलोगे तभी उनका जन्म दिवस मनाना सार्थक सिद्ध होगा। संत रविदास जी ने जो रास्ता दिखाया उसी रास्ते पर चलकर परिवार समाज का कल्याण होगा। संत रविदास जी का मानना था कि आमजन को जाति पंथ समुदाय मंे बांटना उचित नहीं है। वह सच्चे कर्मयोगी थे। उनका मानना था आप अपने कार्य के साथ ही भगवान का भजन कर सकते हो। इसके लिये आपको अलग से मंदिर या अन्य कहीं जाने की आवश्यकता नहीं है। भाजपा जिलाध्यक्ष कमल माखीजानी ने कहा संत रविदास जी ने समाज में बिना किसी छुआ छूत के एक साथ मिलजुलकर रहने का संदेश दिया।  

भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा राष्ट्रीय कार्यसमिति के सदस्य हरीश मेवाफरोस ने इस अवसर पर संत शिरोमणि रविदास जी को नमन करते हुए कहा कि आज समाज में हमंे संत रविदास के संदेश को जन-जन तक पहुंचाने की आवश्यकता है। तभी समाज में व्याप्त कुरूतियां समाप्त होंगी और समाज में समरस्ता का भाव पैदा होगा। कार्यक्रम में पूर्व नेता प्रतिपक्ष देवेन्द्र सिंह तोमर, मंडल अध्यक्ष प्रयाग सिंह तोमर, राजकुमार परमार, धर्मेन्द्र आर्य, पुरूषोत्तम टमोटिया, राजू सेंगर, बिरजू शिवहरे सहित बडी संख्या में क्षेत्रीय गणमान्य नागरिक उपस्थित रहे।

कार्यक्रम संयोजक एवं पूर्व एमआईसी सदस्य जगत सिंह कौरव के संयोजन में संत शिरोमणि रविदास जी की जयंती की पूर्व संध्या पर आयोजित कार्यक्रम में समाजसेवा के क्षेत्र में उत्कृठ कार्य करने वाले नागरिकों एवं कोरोना काल आगे आकर समाज की सेवा करने वाले नागरिकों को संत रविदास सम्मान से सम्मानित किया गया। जिसमें सर्व प्रथम पांच संतो का सम्मान किया गया। इसके पश्चात प्रदेश सरकार के ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर के प्रतिनिधि के रूप में प्रयाग सिंह तोमर को सम्मानित किया गया। 

जेल अधीक्षक मनोज साहू, जीवाजी विश्व विद्यालय के कुलसचिव सुशील मंडेलिया, जयारोग्य चिकित्सालय के अस्पताल प्रबंधक डॉ. अनिल मेवाफरोस, पूर्व जज आरपी सिंह, सहायक जनसम्पर्क अधिकारी नगर निगम उमेश गुप्ता, सिम्स हॉस्पिटल के दीपक भदौरिया एवं 12 कक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने पर संध्या वरैया के साथ ही पुलिस प्रशासन, आंगनवाडी एवं समाज सेवा के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाले 251 नागरिकों का शॉल श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मान किया गया।  संत शिरोमणी रविदास जी की जयंती के अवसर पर कार्यक्रम संयोजक एवं पूर्व पार्षद जगत सिंह कौरव द्वारा तैयार किया गया संत शिरोमणी के वार्षिक कैलेंडर का विमोचन अतिथियों द्वारा किया गया एवं कार्यक्रम में उपस्थित नागरिकों को कलैंडर वितरित किया गया।