एकजुट होकर रोकेंगे कोरोना संक्रमण…

Third web को परास्त करने के उद्देश्य से हुआ संयुक्त विचार मंथन

 

ग्वालियर। कोरोना संक्रमण की रफ्तार पर प्रभावी अंकुश लगाने के उद्देश्य से शहर के धर्मगुरू, जनप्रतिनिधिगण, क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप के सदस्यगण, सामाजिक, व्यापारिक स्वयंसेवी संगठनों के प्रतिनिधिगण और वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी मंगलवार को एक साथ बैठे। यहाँ जीवाजी विश्वविद्यालय के अटल सभागार में सांसद विवेक नारायण शेजवलकर एवं कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह की मौजूदगी में सभी ने एक स्वर में भरोसा दिलाया कि कोरोना की तीसरी लहर को परास्त करने में हम सब कंधे से कंधा मिलाकर प्रशासन का सहयोग करेंगे। श्री शेजवलकर ने इस अवसर पर कहा कि थोड़ी सी भी असावधानी की हमें बड़ी कीमत चुकानी पड़ सकती है। इसलिए भीड़ पर नियंत्रण अत्यंत जरूरी हो गया है। हम सब मास्क लगाकर और सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखकर कोरोना संक्रमण को काफी हद तक रोक सकते हैं।

हमें चिंता इस बात की भी करनी है कि अस्पतालों पर कम से कम दबाव आए और भी संक्रमितों को बेहतर इलाज की सुविधा मिलती रहे। यह सभी के साझा प्रयासों से ही संभव है। श्री शेजवलकर ने कहा कि अपने परिजनों और घर में आने वाले लोगों को मास्क लगाने के लिये प्रेरित करें। श्री शेजवलकर ने 15 से 18 वर्ष तक के बच्चों का जल्द से जल्द टीकाकरण पूर्ण करने में सहयोग देने का आह्वान भी किया। जिला पंचायत प्रशासकीय समिति की अध्यक्ष मनीषा यादव ने सभी से कोरोना को लेकर पूरी सावधानी बरतने का आह्वान किया। साथ ही कहा कि शहर की सब्जी मंडियों में भीड़ प्रबंधन पर विशेष ध्यान दिया जाए।  भाजपा जिला अध्यक्ष कमल माखीजानी ने कहा कि कोरोना की तीसरी लहर को रोकने में उनके संगठन की ओर से हर संभव मदद मिलेगी। हर बूथ पर प्रशासनिक दल के सहयोग के लिये दो सेवाभावी कार्यकर्ता उनके संगठन के लिये तैनात किए जायेंगे।

इसके लिये उन्हें प्रशिक्षित भी किया गया है। कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह ने कोरोना की तीसरी लहर से निपटने के लिये जिला प्रशासन द्वारा की गई तैयारियों का विस्तार से ब्यौरा दिया। साथ ही कहा कि आप सब कोरोना के खिलाफ लड़ाई में नेतृत्व करेंगे, तो जरूर ही हम सब कोरोना को परास्त कर पायेंगे। श्री सिंह ने आह्वान किया कि सभी जनप्रतिनिधिगण अपने-अपने वार्ड की जिम्मेदारी लें। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना की चैन तोड़ने के लिये केन्टोनमेंट जोन भी बनाए जायेंगे। कोरोना की जांच के लिये सभी फीवर क्लीनिक फिर से सक्रिय कर दिए गए हैं। कलेक्टर ने व्यापारिक संगठनों से आग्रह किया कि भीड़ नियंत्रण के लिये अपने स्तर पर व्यवस्था बनाएं, प्रशासन इसमें पूरा सहयोग करेगा। व्यापारीगण चाहें तो बाजार खुलने का समय कम कर सकते हैं अर्थात शाम को निर्धारित समय से पहले बाजार बंद करने का निर्णय ले सकते हैं।

प्रशासन द्वारा राज्य शासन द्वारा जारी निर्देशों के तहत निर्णय लिया जायेगा। श्री सिंह ने सब्जी मंडियों में भीड़ नियंत्रण के लिये पूर्व की भाँति मंडी का विकेन्द्रीकरण करने की बात भी कही। पुनीत उद्देश्य से आयोजित हुए संयुक्त विचार मंथन में चेम्बर ऑफ कॉमर्स के मानसेवी सचिव प्रवीण अग्रवाल शहरकाजी सहित अन्य प्रबुद्धजनों धर्मगुरूओं ने भी अपने-अपने सुझाव दिए। कार्यक्रम में पूर्व विधायक रमेश अग्रवाल, संत कृपाल सिंह, नगर निगम के पूर्व सभापति गंगाराम बघेले राकेश माहौर तथा अशोक जैन सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी आशीष तिवारी, स्मार्ट सिटी की सीईओ जयति सिंह, अपर कलेक्टर एच बी शर्मा इच्छित गढ़पाले, अपर आयुक्त नगर निगम अतेन्द्र सिंह गुर्जर एवं कार्यक्रम अधिकारी महिला बाल विकास राजीव सिंह सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे।