कोरोना मरीज की ट्रेसिंग एवं इलाज के लिए…

100 मतदाताओं पर एक कर्मचारी तैनात करें : संभागायुक्त

 

ग्वालियर। कोरोना संक्रमण की चैन तोड़ने में समझौता समाधान केन्द्र भी अहम भूमिका निभायेंगे। संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना ने गूगल मीट के जरिए मंगलवार को ग्वालियर-चंबल संभाग के सभी जिलों के कलेक्टर एवं संबंधित अधिकारियों से इस संबंध में चर्चा की। उन्होंने निर्देश दिए कि औसतन 50 घर 100 मतदाताओं के लिए एक जिम्मेदार सरकारी कर्मचारी को नियुक्त करें। यह कर्मचारी अपने प्रभार के सभी घरों में संपर्क कर मोबाइल फोन नम्बर और परिवार के सदस्यों की जानकारी एकत्रित करेंगे।

साथ ही मोबाइल फोन नम्बर से इन परिवारों का हालचाल जानकर स्वास्थ्य सेवायें जरूरी सलाह मुहैया कराई जायेगी। ज्ञात हो संभाग आयुक्त आशीष सक्सेना की पहल पर ग्वालियर-चंबल संभाग के सभी जिलों में पुलिस बीट की तर्ज पर समझौता-समाधान केन्द्र स्थापित किए गए है। इन केन्द्रों के जरिए खासतौर पर जमीन और आपसी छोटे-मोटे विवादों का मिल बैठकर निपटारा किया जाता है। संभाग आयुक्त सक्सेना ने गूगल मीट में निर्देश दिए कि सभी जिलों में 10 जनवरी तक सभी परिवारों का डाटा मोबाइल फोन नम्बर एक्सेल शीट में तैयार कर लें।

 उन्होंने कहा कि समझौता समाधान केन्द्र के माध्यम से लोगों की काउंसिलिंग की जाए। साथ ही कोरोना मरीजों को दवाएँ स्वास्थ्य सेवायें मुहैया कराई जाएं। समाधान केन्द्र स्तर पर हर मंगलवार को स्थानीय क्राइसेस मैनेजमेंट ग्रुप की बैठक भी आयोजित हो। गूगल मीट में ग्वालियर कलेक्टर कौशलेन्द्र विक्रम सिंह सहित अन्य जिलों के कलेक्टर तथा अन्य प्रशासनिक अधिकारी जुड़े और अपने-अपने जिलों में कोरोना से निपटने के लिये की जा रही तैयारियों की जानकारी दी।