नाराज सपा विधायक ने दिया इस्तीफा…

सपा में बाहरियों को टिकट देने से बगावत शुरू !

 

लखनऊ। समाजवादी पार्टी दूसरे दलों से आने वाले नेताओं को टिकट देने का सिलसिला शुरू हुआ तो बगावत भी शुरू हो गई। पिछले दिनों योगी मंत्रिमंडल से इस्तीफा देकर समाजवादी पार्टी में शामिल होने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य के करीबी नीरज मौर्य को शाहजहांपुर की जलालाबाद सीट से टिकट दिया गया तो सपा के एक विधायक ने नाराजगी जताते हुए पार्टी से नाता तोड़ लिया। साथ ही सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर बड़ा और गंभीर आरोप लगाया। उन्होंने अखिलेश यादव को भेजे पत्र में लिखा है कि आपके नेतृत्व में समाजवादी पार्टी नेताजी की नीतियों से भटक गई है।

 समाजवादी पार्टी ने मंगलवार को शाहजहांपुर के टिकटों की घोषणा की और उम्मीदवारों को नामांकन पत्र भरने के लिए सिंबल के रूप में फार्म बी का आवंटन किया। सपा ने शाहजहांपुर की जलालाबाद विधानसभा सीट पर पिछले दिनों योगी मंत्रिमंडल से इस्तीफा देकर आने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य के करीबी नीरज मौर्य को उम्मीदवार बनाया है। इससे नाराज जलालाबाद विधानसभा सीट से समाजवादी पार्टी के विधायक सत्यवीर सिंह ने समाजवादी पार्टी से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद सपा के विधायक सत्यवीर सिंह ने अखिलेश यादव को पत्र भेजकर नाराजगी जाहिर की है।

उन्होंने पत्र में लिखा है कि 'मैंने मुलायम सिंह यादव की नीतियों से प्रभावित होकर वर्ष 1995 में सपा की सदस्यता ग्रहण की थी। 1996 से लगातार जलालाबाद की जनता की सेवा करता रहा हूं। परंतु आप के नेतृत्व में पार्टी नेताजी की नीतियों से भटक गई है। इसलिए आपके द्वारा मेरा टिकट काटकर ऐसे प्रत्याशी को टिकट दिया गया है, जिसने बसपा कार्यकाल में धन कमाने के लिए समाज के सभी वर्गों व्यापारियों पर जमकर अत्याचार किए थे। आप के निर्णय से जलालाबाद की जनता मैं काफी आहत हूं। इसलिए आपकी पार्टी की सदस्यता से त्यागपत्र दे रहा हूं।