बिजली उपकरण के साथ छेड़छाड़ कर…

पूर्व मंत्री विधायक को कनेक्शन जोड़ना पड़ा महंगा, FIR दर्ज

 

भोपाल। पूर्व मंत्री दक्षिण पश्चिम विधानसभा सीट से कांग्रेस विधायक पीसी शर्मा को उपभोक्ता के घर का बिजली कनेक्शन जोड़ना महंगा पड़ गया है। विधायक उनके समर्थकों पर टीटी नगर थाने में विभिन्न् धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है। कंपनी ने शिकायत शुक्रवार रात को की थीञ जांच में शिकायत सही पाई जाने पर पुलिस ने मामला शनिवार शाम को दर्ज किया है। कंपनी ने पुलिस को बताया था कि विधायक ने बिजली उपकरण के साथ छेड़छाड़ कर जोड़ा है जो विद्युत अधिनियम की धारा 138 के तहत दर्ज अपराध की श्रेणी में है। बता दें कि बिजली तारों उपकरणों के साथ छेड़छाड़ करने के मामले में तीन वर्ष तक की जेल जुर्माना दोनों के प्रविधान है इधर, विधायक शर्मा कनेक्शन जोड़ने के अपने कदम पर अडिग है उन्होंने कंपनी पर मनमानी कर अधिक राशि के बिल थमाने और फिर कनेक्शन काटकर उपभोक्ता को उनके मूलभूत अधिकारों से वंचित रखने के आरोप लगाए हैं इस मामले में अनिल बाजपेयी अन्य उपभोक्ताओं का कहना है कि कंपनी के कुछ अधिकारी पूर्व से मनमर्जी करते रहे हैं, उपभोक्ताओं को परेशान होना पड़ता है। 

विधायक को भी नियमों का पालन करना चाहिए था। अनिता कदारे टीटी नगर के बाणगंगा इलाके में रहती है। उस पर करीब 4481 रुपये बकाया है। बिजली कंपनी के कर्मचारियों ने 26 दिसंबर 2021 को उसके घर का बिजली कनेक्शन काट दिया था। अनिता ने इस बात की शिकायत विधायक से की थी। यह भी बताया कि यह राशि जबरन थोपी गई है, उसकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है। पूर्व में भी बिजली कंपनी मनमर्जी से बिल देती रही है। इस पर विधायक पीसी शर्मा गुरुवार को उसके घर पहुंचे थे और उन्होंने कनेक्शन जोड़ दिया था। कनेक्शन जोड़ने की जानकारी खुद विधायक शर्मा की तरफ से दी गई थी बिजली कंपनी के वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश पर मैदानी अमला शुक्रवार को अनिता के घर पहुंचे और उन्होंने विधायक द्वारा जोड़े गए कनेक्शन को पुन: काट दिया था। वरिष्ठ अधिकारियों के कहने पर विधायक अन्य के खिलाफ शिकायत भी दर्ज कराई थी, जिस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। इस संबंध में मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के अधिकारियों का कहना है कि कंपनी ने उपभोक्ता को बिल जमा करने के अवसर दिए थे बिल की राशि बिल्कुल सही है लेकिन बिल जमा नहीं किया जा रहा था इसलिए कनेक्शन काटना पड़ा दूसरे उपभोक्ताओं को भी कार्रवाई के दायरे में ले रहे हैं  

यदि बकाया नहीं मिला तो नियमित बिल चुकाने वाले उपभोक्ताओं को सुचारू बिजली नहीं दे सकेंगे। विधायक पीसी शर्मा ने एफआईआर दर्ज होने के बाद कहा है कि वह जेल जाने के लिए तैयार हैं उनका कहना है कि जब कांग्रेस की सरकार थी तब विपक्ष में रहते हुए मौजूदा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा था कि वह गरीबों के साथ बिजली कंपनी को अन्याय नहीं होने देंगे यदि बिजली कंपनी कनेक्शन काटेगी तो वे जोड़ेंगे। अभी भाजपा की सरकार है और शिवराज सिंह चौहान मुख्यमंत्री है उनकी सरकार गरीबों को अधिक राशि के बिल थमा रही है गरीब बिल नहीं चुका पा रहे हैं तो उनके कनेक्शन काटकर उन्हें अंधेरे में रहने के लिए मजबूर किया जा रहा है यह बर्दाश्त नहीं करेंगे सरकार बिलों में पारदर्शिता लाएं बिजली कंपनी के वरिष्ठ अधिकारी गलतियां सुधारें, गरीबों को परेशान करें यदि बिजली काटी गई तो कनेक्शन जोड़ेंगे शर्मा का कहना है कि ऐसा करने के बाद वह जेल जाने के लिए तैयार हैं।