आठ साल से था फरार…

मामा के घर टंकी में छिपा मिला पांच हजार का ईनामी दुष्कर्मी

 

ग्वालियर। नाबालिग से दुष्कर्म मामले -में आठ साल से फरार आरोपी सुनील पुत्र इंद्रभान उर्फ बिल जाटव निवासी श्रीनगर कॉलोनी को पाटीपुर थाना पुलिस दबोचा है। पुलिस को चकमा देने के लिए आरोपित अपने मामा के घर कर छिपा हुआ था। आरोपित पर पांच हजार रुपए का इनाम था और पिछले आठ साल से फरार था। पुलिस से बचने के लिए वह टंकी छिप गया था। पुलिस ने आरोपी को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू कर दी है।

पुलिस अफसरों ने बताया कि पकड़े गए आरोपी पर नाबालिग छात्राओं से दुष्कर्म के दो मामले दर्ज है। पहला मामला वर्ष 2014 का है तो दूसरा मामला 2016 का है। पूछताछ में पता चला है कि आरोपित पुलिस से बचने के लिए हर एक माह में शहर बदल देता था। फरार आरोपी की तलाश में पिछले दो माह से एसआई दिनेश सिंह, प्रधान आरक्षक अजय शर्मा, आरंधक पवन ओझा और जिवेन्द्र पाल को लगाया गया और पिछले दो माह से यह टीम लगातार आरोपित की तलाश में राजस्थान के अलवर, जयपुर, भरतपुर आदि स्थानों पर दबिश दे रही थी।

जिससे परेशान होकर दो दिन पहले की आरोपित की तरफ से जमानत याचिका लगाई गई थी। इसका पता चलते ही पुलिस टीम अलवर पहुंची तो वह वहां से निकल भागा और ग्वालियर में अपने मामा के घर में छिप गया। बीती रात पुलिस को इसकी दिन पाइंट सूचना मिली और पुलिस ने दबिश दी तो आरोपित पानी की टंकी में छिप गया। लेकिन पुलिस को शक हुआ और आरोपित को पानी की टंकी से दबोच लिया।