बिजली की मांग 15692 मेगावाट दर्ज…

MP बिजली सेक्टर में अधिकतम मांग व सप्लाई का नया रिकार्ड 


मध्यप्रदेश l प्रदेश में बिजली की अधिकतम मांग व सप्लाई के नए रिकार्ड एक साथ बने। आज 24 दिसंबर को दोपहर 12.56 बजे बिजली की अधिकतम मांग का नया रिकार्ड 15692 मेगावाट दर्ज हुआ। वहीं गत दिवस 23 दिसंबर को प्रदेश में बिजली सप्लाई का नया रिकार्ड कायम हुआ। इस दिन 2956.27 लाख यूनिट बिजली की सप्लाई पूरे प्रदेश में की गई। इससे पूर्व मध्यप्रदेश में 31 दिसंबर 2020 को 2954.77 लाख यूनिट बिजली की सप्लाई हुई थी। मध्यप्रदेश में पिछले एक सप्ताह से बिजली की मांग 15 हजार मेगावाट से ऊपर दर्ज हो रही है। बिजली कंपनियों के बेहतर प्रबंधन और सुदृढ़ नेटवर्क के कारण बिजली की इस अधिकतम मांग की सफलतापूर्वक सप्लाई हुई और प्रदेश में कहीं भी विद्युत व्यवधान नहीं हुआ। 

ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने इस उपलब्धि के लिए पूरे स्टॉफ को बधाई दी है। आज जब प्रदेश में बिजली की अधिकतम मांग दर्ज हुई उस समय मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी (इंदौर व उज्जैन संभाग) में बिजली की अधिकतम मांग 6021 मेगावाट, मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी (भोपाल व ग्वालियर संभाग) में 5145 मेगावाट और मध्यप्रदेश पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी (जबलपुर, सागर व रीवा संभाग) में 4240 मेगावाट दर्ज हुई। रेलवे की मांग 286 मेगावाट रही। उल्लेखनीय है कि 22 दिसंबर को पूर्व क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी की अब तक सर्वाधिक बिजली मांग 4463 मेगावाट दर्ज हुई। 

प्रदेश में आज 24 दिसंबर को जब बिजली की अधिकतम मांग 15692 मेगावाट दर्ज हुई, उस समय बिजली की सप्लाई में मध्यप्रदेश पावर जनरेटिंग कंपनी के ताप व जल विद्युत गृहों का उत्पादन अंश 3650 मेगावाट, इंदिरा सागर-सरदार सरोवर-ओंकारेश्वर जल विद्युत परियोजना का अंश 1048 मेगावाट, एनटीपीसी अंश 4185 मेगावाट, जेपी बीना-बीएलएल 247, आईपीपी का अंश 2606 मेगावाट रहा और बिजली बैंकिंग से 2107, अन्य स्त्रोत जैसे रिहंद, माताटीला, राजघाट का अंश 638 और नवकरणीय स्त्रोत से प्रदेश को 1211 मेगावाट बिजली प्राप्त हुई।