RSS प्रमुख ने संगीत साधकों से की मुलाकात...

सैन्य संगठन नहीं, पारिवारिक माहौल वाला समूह है RSS : मोहन भागवत

ग्वालियर के केदार धाम सरस्वति शिशु मंदिर में RSS प्रमुख डॉ. मोहन भागवत ने कहा,  RSS सैन्य संगठन नहीं, पारिवारिक माहौल वाला समूह है, संगीत साधकों और खास लोगों से मुलाकात करते हुए उन्होंने संगीत को हिंदुत्व की आत्मा कहा है। उनका कहना है कि भारतीय संगीत की विरासत को संजोकर रखें और इसे नई पीढ़ी तक पहुंचाने की जिम्मेदारी आप अपने ऊपर लें। उन्होंने बताया कि पहले संघ का घोष पश्चिमी धुनों पर आधारित होता था। 

लेकिन बाद में भारतीय संगीत के जानकारों व संघ के स्वयं सेवकों ने मिलकर भारतीय संस्कृति पर आधारित रचनाएं तैयार की और अब संघ के घोष में इन्हीं रचनाओं का घोष होता है। उन्होंने कहां कि भारतीय संगीत की विरासत काफी बड़ी है और आप सभी को इनको आने वाली पीढ़ी को सौपना है। RSS सर संघचालक मोहन भागवत से मुलाकात के दौरान हॉल में उपस्थित संगीतकार और कला साधकों ने कुछ प्रस्ताव भी रखे। जिनमें कुछ सुझाव महत्वपूर्ण रहे।

 

जिनमें संगीतकारों ने सुझाव रखा कि शिक्षा में भारतीय संगीत को अनिवार्य किया जाए। साथ ही स्कूलों में संस्कृति, साहित्य और कला को शामिल किया जाए। इस पर सरसंघचालक मोहन भागवत ने ने कहा कि यह भी आपके ऊपर निर्भर करता है। संगीत, कला, साहित्य को लेकर आप लोगों को जागरूक करें। जिससे लोगों का रूझान इस ओर आए और सरकार संगीत को शिक्षा में शामिल करे। 

संगीतकारों से मुलाकात कार्यक्रम में राजा मान सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर साहित्य कुमार नाहर, इलाहबाद से आए जयंत खोत, श्रीराम उमड़ेकर, साधना मोरे, पंडित सुनील पावगी, वीणा जोशी, संजय धवले, अभिजीत सुखहाड़ आदि शामिल रहे। 

ग्वालियर में तीन दिवसीय प्रवास पर आए RSS के सर संघचालक डॉ. मोहन भागवत रविवार को जीवाजीगंज स्थित सरोद घर भी जाएंगे। यहां वह एक घंटे तक रुकेंगे। सरोद घर में उनकी और सरोद वादक उस्ताद अमजद अली खान की मुलाकात कुछ खास होने वाली है। RSS प्रमुख के सरोद घर जाने के प्रोग्राम बनने के बाद सरोद घर के आसपास पुलिस की हलचल तेज हो गई है। 

पुलिस ने वहां सुरक्षा घेरा बना दिया है। रविवार शाम को यह खास मुलाकात होने वाली है। इसके लिए सरोद घर को सजाया गया है और वहां आम लोगों के आने जाने पर पाबंदी लगा दी गई है। संघ प्रमुख का ग्वालियर आगमन के दाैरान सरोद घर जाने का कार्यक्रम तय होने के बाद पुलिस ने सरोद घर काे सुरक्षा घेरे में ले लिया है। सरोद घर का मार्ग संकरा होने के कारण दोनों तरफ से ट्रैफिक को रोक कर डायवर्ट किया जाएगा। साथ ही यहां सड़कों पर फोर्स लगा दिया गया है। 

सर संघचालक डॉ.मोहन भागवत शुक्रवार से तीन दिन के प्रवास पर आए हैं। संघ प्रमुख का प्रवास घोष शिविर के आयोजन स्थल केदारपुर धाम में हैं। डॉ. भागवत के प्रवास के कारण ग्वालियर-शिवपुरी हाइवे पर रातभर पुलिस ने पेट्रोलिंग की। एसपी अमित सांघी ने रात को गश्त पर निकले पुलिस अधिकारियों को पूरी तरह अलर्ट रहने के निर्देश भी दिए थे। रात में घूमते मिले लोगों से पूछताछ करने के निर्देश दिए हैं।