महिलाओं पर की थी अभद्र टिप्पणी…

CM की फटकार के बाद मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने मांगी माफी

सवर्ण महिलाओं को लेकर अभद्र टिप्पणी को लेकर मचे बवाल और सीएम शिवराज सिंह चौहान द्वारा फटकार के बाद प्रदेश के खाद्य मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने माफी मांग ली। इससे पहले उन्हें सीएम ने तलब किया। वह प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा के साथ सीएम से मिलने पहुंचे थे। शर्मा ने भी प्रदेश भाजपा की ओर से महिलाओं से माफी मांगी है। बिसाहूलाल सिंह के बयान पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सख्त नाराजगी जताई और मंत्रियों को चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि चाहे मंत्री हो या कार्यकर्ता, यदि इस तरह के विवादित बयान देंगे या भावना प्रकट करेंगे तो हम माफ नहीं करेंगे। 

सीएम की सख्त आपत्ति के बाद ही बाद मंत्री बिसाहूलाल ने वीडियो जारी कर फिर से माफी मांगी है। पहले वह लिखित में माफी मांग चुके हैं। मप्र के खाद्य व नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल सिंह ने कहा, 'उनके बयान से यदि किसी की भावना आहत हुई तो मैं क्षमा चाहता हूं। मैं हमेशा महिलाओं का सम्मान करता रहा हूं।' मप्र भाजपा के अध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा कि ऐसे बयान दुर्भाग्यपूर्ण हैं। यदि इस वक्तव्य के कारण किसी की भावना को ठेस पहुंची है तो प्रदेश अध्यक्ष होने के नाते क्षमा प्रार्थना करता हूं। मंत्री बिसाहू लाल के बयान के बाद करणी सेना ने शनिवार को भाजपा के ऑफिस में हंगामा किया था।

वहीं, पदाधिकारी-कार्यकर्ता मंत्री के बंगले पर भी पहुंचे थे। रविवार को भी बंगले पर कड़ी सुरक्षा रही। मंत्री बिसाहू लाल सिंह ने अनूपपुर की एक सभा में कहा था- 'जितने बड़े-बड़े लोग हैं, वो अपने घर की औरतों को कोठरी में बंद करके रखते हैं। बाहर निकलने ही नहीं देते। जितने धान काटने वाले, आंगन लीपने वाले, गोबर फेंकने का काम हमारे गांव की महिलाएं करती हैं। जब महिलाओं और पुरुषों का बराबर अधिकार है तो दोनों को बराबरी से काम भी करना चाहिए। सब अपने अधिकारों को पहचानों और पुरुषों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करो। बड़े लोगों की महिला बाहर न निकले तो पकड़-पकड़कर उन्हें बाहर निकालों, तभी तो महिलाएं आगे बढ़ेंगी।'